अश्विन शर्मा के पास से मिली डायरियों में BJP के पूर्व मंत्रियों से लेन-देन का लिखा था हिसाब

mp
अश्विन शर्मा के पास से मिली डायरियों में BJP के पूर्व मंत्रियों से लेन देन का लिखा था हिसाब

भोपाल। मध्यप्रदेश में सीएम कमलनाथ के करीबियों के यहां चल रही छापेमारी तीसरे दिन समाप्त हुई। छापेमारी में सबसे ज्यादा कैश भोपाल में अश्विन शर्मा व प्रतीक जोशी के घर से बरामद हुई। अश्विन शर्मा खुद को बीजेपी नेता बताता है। छापेमारी में अश्विन के घर से विदेशी शराब, पांच बंदूकें, सोने—चांदी के बर्तन, वन्य प्राणियों की खालें, अवैध विदेशी हथियार समेत अन्य सामान बरामद हुआ है।

Name Of Former Bjp Ministers In The Diaries Received From Ashwin Sharma :

इसके साथ ही छापेमारी कर रही टीम को अश्विन के घर से एक डायरियां और इलेक्शन बॉन्ड मिले हैं। यह बॉन्ड अडानी और टाटा कंपनियों के बताए जा रहे हैं। यह भी बताया जा रहा है कि यह बॉन्ड भाजपा के लिए खरीदे गये होंगे। सूत्रों की माने तो अश्विन के पास से बरामद हुई डायरियों में तीन भाजपा के पूर्व मंत्रियों से लेन देन का हिसाब लिखा हुआ है।

तीनों पूर्व मंत्रियों के नाम के आगे ‘35’ फिगर की एंट्री है। सूत्रों की माने तो आयकर की पूछताछ में शर्मा ने बताया कि उसके संबंध इन मंत्रियों से थे और रकम (35 हजार) उसने मंत्रियों की गाड़ियों के टायर बदलवाने में खर्च की थी। इसको लेकर आयकर की टीम जांच कर रही है। गौरतलब है कि जिन पूर्व मंत्रियों के नाम डायरी में लिखा है वह मौजूदा समय में विधायक हैं।

वन्य प्राणियों की मिली खालें
छापे के दौरान 250 शराब की बोतलें व बाघ की कई खालें भी मिलीं। वन्य प्राणियों की जो ट्राफियां मिली हैं उनमें ब्लैकबक, सांभर, चिंकारा, टाइगर, चीता, हिरण और चीतल शामिल हैं। ट्राफियों और बाघ की खालों की कीमत भी करोड़ों में बताई जा रही है। खास बात यह है कि आयकर टीम ने ही वन विभाग को वन्य प्राणियों की ट्रॉफी और खालों के बारे में जानकारी दी।

चुनाव आयोग ने लगाई फटकार
देशभर में चल रही आयकर विभाग की छापेमारी को लेकर मंगलवार केन्द्रिय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के चेयरमैन पीसी मोदी और वित्त मंत्रालय के राजस्व सचिव एबी पांडेय को तलब किया। आयोग ने केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) और राजस्व विभाग को मौखिक चेतावनी देते हुए कहा है कि किसी भी राजनीतिक पार्टी या उनसे जुड़े लोगों पर कार्रवाई से पहले आयोग को सूचित किया जाना जरूरी है।

भोपाल। मध्यप्रदेश में सीएम कमलनाथ के करीबियों के यहां चल रही छापेमारी तीसरे दिन समाप्त हुई। छापेमारी में सबसे ज्यादा कैश भोपाल में अश्विन शर्मा व प्रतीक जोशी के घर से बरामद हुई। अश्विन शर्मा खुद को बीजेपी नेता बताता है। छापेमारी में अश्विन के घर से विदेशी शराब, पांच बंदूकें, सोने—चांदी के बर्तन, वन्य प्राणियों की खालें, अवैध विदेशी हथियार समेत अन्य सामान बरामद हुआ है।

इसके साथ ही छापेमारी कर रही टीम को अश्विन के घर से एक डायरियां और इलेक्शन बॉन्ड मिले हैं। यह बॉन्ड अडानी और टाटा कंपनियों के बताए जा रहे हैं। यह भी बताया जा रहा है कि यह बॉन्ड भाजपा के लिए खरीदे गये होंगे। सूत्रों की माने तो अश्विन के पास से बरामद हुई डायरियों में तीन भाजपा के पूर्व मंत्रियों से लेन देन का हिसाब लिखा हुआ है।

तीनों पूर्व मंत्रियों के नाम के आगे ‘35’ फिगर की एंट्री है। सूत्रों की माने तो आयकर की पूछताछ में शर्मा ने बताया कि उसके संबंध इन मंत्रियों से थे और रकम (35 हजार) उसने मंत्रियों की गाड़ियों के टायर बदलवाने में खर्च की थी। इसको लेकर आयकर की टीम जांच कर रही है। गौरतलब है कि जिन पूर्व मंत्रियों के नाम डायरी में लिखा है वह मौजूदा समय में विधायक हैं।

वन्य प्राणियों की मिली खालें
छापे के दौरान 250 शराब की बोतलें व बाघ की कई खालें भी मिलीं। वन्य प्राणियों की जो ट्राफियां मिली हैं उनमें ब्लैकबक, सांभर, चिंकारा, टाइगर, चीता, हिरण और चीतल शामिल हैं। ट्राफियों और बाघ की खालों की कीमत भी करोड़ों में बताई जा रही है। खास बात यह है कि आयकर टीम ने ही वन विभाग को वन्य प्राणियों की ट्रॉफी और खालों के बारे में जानकारी दी।

चुनाव आयोग ने लगाई फटकार
देशभर में चल रही आयकर विभाग की छापेमारी को लेकर मंगलवार केन्द्रिय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के चेयरमैन पीसी मोदी और वित्त मंत्रालय के राजस्व सचिव एबी पांडेय को तलब किया। आयोग ने केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) और राजस्व विभाग को मौखिक चेतावनी देते हुए कहा है कि किसी भी राजनीतिक पार्टी या उनसे जुड़े लोगों पर कार्रवाई से पहले आयोग को सूचित किया जाना जरूरी है।