पीएम मोदी का सवाल- गुजरात चुनाव में पाकिस्तान क्यों कर रहा है हस्तक्षेप ?

narendra modi

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को आरोप लगाया कि पाकिस्तान गुजरात विधानसभा चुनावों में हस्तक्षेप कर रहा है। साथ ही उन्होंने कांग्रेस से उसकी पार्टी के आला नेताओं के हाल ही में पड़ोसी देश के नेताओं से मिलने पर स्पष्टीकरण भी मांगा।

Narendra Modi Asks Why Pakistan Army Ex Dg Wants Ahmed Patel As Gujarat Chief Minister :

रविवार को बनासकांठा के पालनपुर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने आरोप लगाया कि गुजरात के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सीमापार से मदद से ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी सेना के पूर्व डीजी ने कहा था कि अहमद पटेल को मुख्यमंत्री बनाया जाना चाहिए।

कांग्रेस से निलंबित वरिष्ठ मंत्री मणिशंकर अय्यर के बयान के बहाने पीएम मोदी ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। कांग्रेस पर हमले के साथ उन्होंने सवाल किया कि आखिर पाकिस्तानी सेना के लोग गुजरात में अहमद पटेल को सीएम बनाने की मदद की बात क्यों कर रहे हैं? मोदी ने पूछा कि आखिर इसके क्या मायने हैं?

मोदी ने कहा कि मीडिया में ऐसी ख़बरें थी कि मणिशंकर अय्यर के घर एक गुप्त बैठक की गई जिसमें पाकिस्तान के उच्चायुक्त समेत, पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री, भारत के पूर्व उप राष्ट्रपति और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह शामिल हुए।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को आरोप लगाया कि पाकिस्तान गुजरात विधानसभा चुनावों में हस्तक्षेप कर रहा है। साथ ही उन्होंने कांग्रेस से उसकी पार्टी के आला नेताओं के हाल ही में पड़ोसी देश के नेताओं से मिलने पर स्पष्टीकरण भी मांगा।रविवार को बनासकांठा के पालनपुर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने आरोप लगाया कि गुजरात के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सीमापार से मदद से ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी सेना के पूर्व डीजी ने कहा था कि अहमद पटेल को मुख्यमंत्री बनाया जाना चाहिए।कांग्रेस से निलंबित वरिष्ठ मंत्री मणिशंकर अय्यर के बयान के बहाने पीएम मोदी ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। कांग्रेस पर हमले के साथ उन्होंने सवाल किया कि आखिर पाकिस्तानी सेना के लोग गुजरात में अहमद पटेल को सीएम बनाने की मदद की बात क्यों कर रहे हैं? मोदी ने पूछा कि आखिर इसके क्या मायने हैं?मोदी ने कहा कि मीडिया में ऐसी ख़बरें थी कि मणिशंकर अय्यर के घर एक गुप्त बैठक की गई जिसमें पाकिस्तान के उच्चायुक्त समेत, पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री, भारत के पूर्व उप राष्ट्रपति और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह शामिल हुए।