1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. मायावती के करीबी रहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी की विधान परिषद सदस्यता रद्द

मायावती के करीबी रहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी की विधान परिषद सदस्यता रद्द

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती के करीबी रहे नसीमुद्दीन सिद्दकी की विधान परिषद सदस्यता रद्द कर दी गई है। सिद्दीकी को दल बदल कानून के तहत 22 फरवरी 2018 से अयोग्य घोषित कर दिया गया था। बसपा से बगावत करने के बाद ​नसीमुद्दीन ने कांग्रेस ज्वॉइन किया था, जिसके बाद बहुजन समाज पार्टी ने दल बदल कानून के तहत विधान परिषद के सभापति से अपील की थी।

बता दें कि, नसीमुद्दीन कभी बसपा सुप्रीमो के सबसे खास व बसपा के प्रमुख सिपहसालार में थे। उन्होंने 1988 में अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी। बांदा नगर निगम के अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ा, लेकिन हार गए। इसके बाद उसी साल वो बसपा में शामिल हो गए। 1991 में उन्होंने बसपा के टिकट पर विधायकी का चुनाव लड़ा और उन्हें सफलता हाथ लगी। 1991 में नसीमुद्दीन बसपा के पहले मुस्लिम विधायक बने।

हालांकि दो साल बाद 1993 में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। लेकिन, जब 1995 में मायावती ने पहली बार मुख्यमंत्री का पद संभाला तो नसीमुद्दीन को कैबिनेट मंत्री बनाया गया। इसके बाद 1997 में भी मायावती के छोटे से कार्यकाल में वो मंत्री रहे। 2002 में भी एक साल के लिए वो कैबिनेट का हिस्सा रहे और फिर 2007 से 2012 में भी उन्होंने मंत्री पद संभाला।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...