आसाराम-राम रहीम के बाद अब एक और बलात्कारी बाबा

अलवर। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम के बाद अब अलवर के फलहारी महाराज पर एक युवती ने रेप के आरोप में केस दर्ज कराया है। युवती का आरोप है कि बाबा ने उसे पहले प्रसाद में दावा खिलाई जिसके बाद उसके साथ दुष्कर्म किया। पुलिस ने भी रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी हैं। फलहारी बाबा का वास्तविक नाम रामानुजाचार्य स्वामी कौशलेंद्र प्रपन्नाचारी है। हैरत वाली बात यह है कि जैसे ही बाबा को इस बात की भनक लगी तो वे भी अचेत हो गए जिन्हें आनन–फानन में अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

एसपी अलवर, राहुल प्रकाश ने बताया कि फलाहारी बाबा के खिलाफ एक लड़की ने बिलासपुर के महिला थाने में रेप का मामला दर्ज कराया है। छत्तीसगढ़ पुलिस इसके सिलसिले में जांच के लिए अलवर आई है। बीमार होने की वजह से बाबा एक प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती है। पुलिस उसकी निगरानी कर रही है। जैसे ही बाबा की तबीयत में सुधार होगा, उससे पूछताछ की जाएगी।

{ यह भी पढ़ें:- एक और बाबा हुआ बेनकाब, युवती को मंत्र का झांसा देकर कर दिया रेप }

पुलिस के मुताबिक, लड़की के परिवार के बाबा से करीब 25 साल पुराने फैमिली रिलेशन हैं। लड़की ने पिछले दिनों लॉ की पढ़ाई के बाद इंटर्नशिप पूरा किया। इसके लिए उसे 5 हजार रुपए मिले। वह पैसे मिलने को लेकर काफी खुश थी और बाबा 7 अगस्त को बाबा के अलवर आश्रम पर पहुंची थी। यहां शाम को 7 बजे बाबा ने उसे मंदिर के बेसमेंट में बने कमरे में ठहराया। बाबा ने यहां मौजूद लोगों को आरती में शामिल होने के लिए भेज दिया। फिर उसने गेट बंद कर दिया और लड़की के साथ अश्लील बातें करते हुए छेड़छाड़ करने लगा। इसके बाद उसके साथ रेप किया।

बताते चले कि फलाहारी महाराज का अलवर में दिव्य धाम आश्रम है। यहां एक वेद विद्यालय और मंदिर भी है। महाराज के भक्तों की संख्या काफी है। उनका छत्तीसगढ़ में भी आना-जाना रहता है। युवती जयपुर में विधि की पढ़ाई कर रही थी। महाराज की सिफारिश पर उसने कहीं इंटर्नशिप की और इसके लिए उसे स्कालरशिप भी मिली।

{ यह भी पढ़ें:- आखिरकार पुलिस की सख्ती के आगे हनीप्रीत ने टेक दिये घुटने, उगले कई राज }

मानदेय महाराज को अर्पित करने के लिए वह 7 अगस्त में अपने माता-पिता के साथ अलवर आश्रम गई थी। तभी बाबा ने उसे अकेले बुलाया और दुष्कर्म करने लगा। इसी बीच बाबा का कोई चेला पहुंच गया। इस दौरान युवती को इस बारे में किसी को कुछ नहीं बताने की धमकी दी गई। डरी-सहमी युवती भी चुपचाप लौट गई। हाल ही में गुरमीत राम रहीम का मामला सामने आने के बाद युवती की हिम्मत बढ़ी और उसने अपने परिजन को इस बारे में जानकारी दी।