1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. देश और संस्कति की बात करने वाली बीजेपी के युग पुरूष आडवाणी का छलका दर्द

देश और संस्कति की बात करने वाली बीजेपी के युग पुरूष आडवाणी का छलका दर्द

By आशीष यादव 
Updated Date

देश और संस्कति की बात करने वाली बीजेपी के युग पुरूष आडवाणी का छलका दर्द
नई दिल्ली। बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता लालकृष्‍ण आडवाणी ने एक ब्लॉग लिखकर मौजूदा बीजेपी के तौर-तरीके पर सवाल उठाए। लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि बीजेपी ने शुरू से ही राजनीतिक विरोधियों को दुश्मन नहीं माना है। जो हमसे राजनीतिक तौर पर सहमत नहीं हैं इन्हें देश विरोधी नहीं कहां उन्होंने आगे लिखा, ‘पार्टी नागरिकों के व्यक्तिगत और राजनीति पसंद की स्वतंत्रता के पक्ष में रही है।

लालकृष्ण आडवाणी ने अपने ब्लॉग में बीजेपी के मौजूदा तौर तरीक़ों पर भी सवालिया निशान लगाया है। उन्होने कहा कि’राष्ट्र सबसे पहले, फिर दल और अंत में मैं’ के शीर्षक वाले इस ब्लॉग में आडवाणी ने 6 अप्रैल को बीजेपी की स्थापना दिवस का हवाला देते हुए याद दिलाया कि वो भारतीय जनसंघ और भारतीय जनता पार्टी दोनों के संस्थापक सदस्य हैं और लगभग पिछले सत्तर साल से देश की सेवा कर रहे हैं। अपने ब्लाक मे उन्होने छह बार उन्हे जिताने वाली गांधीनगर की ​जनता का भी शुक्रिया अदा किया है।

पूर्व उपप्रधानमंत्री ने कहा कि राजनीतिक एवं चुनावी फंडिंग में पारदर्शिता सहित चुनाव सुधार भ्रष्टाचार मुक्त राजनीति के लिए उनकी पार्टी की एक अन्य प्राथमिकता रही है। उन्होंने कहा, ‘‘संक्षेप में पार्टी के भीतर और बाहर सत्य, निष्ठा और लोकतंत्र के तीन स्तम्भ संघर्ष से मेरी पार्टी के उद्भव के मार्गदर्शक रहे हैं। इन मूल्यों का सार सांस्कृतिक राष्ट्रवाद और सुराज में निहित है जिस पर मेरी पार्टी अडिग रही है।’’

आडवाणी ने कहा कि आपातकाल के खिलाफ अभूतपूर्व संघर्ष इन मूल्यों का प्रतीक रहे हैं। उन्होंने कहा कि उनकी इच्छा है कि सभ समग्र रूप से भारत के लोकतांत्रिक ढांचे को मजबूती प्रदान करें। आडवाणी ने 2015 के बाद पहली बार अपने ब्लॉग पर कोई पोस्ट डाली है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...