लेनिन, पेरियार की मूर्ति क्षतिग्रस्‍त किए जाने के बाद BJP दफ्तर पर पेट्रोल बम से हमला

लेनिन, पेरियार की मूर्ति क्षतिग्रस्‍त किए जाने के बाद BJP दफ्तर पर पेट्रोल बम से हमला
लेनिन, पेरियार की मूर्ति क्षतिग्रस्‍त किए जाने के बाद BJP दफ्तर पर पेट्रोल बम से हमला

चेन्नई। तमिलमाडु में भाजपा  के एक कार्यालय पर हमले के कुछ घंटे बाद भाजपा के राष्ट्रीय सचिव एच. राजा ने बुधवार को अपने फेसबुक पोस्ट पर खेद जताया। राजा ने अपने पहले पोस्ट में कहा था कि ‘राज्य में प्रसिद्ध द्रविड़ नेता ई.वी. रामासामी (पेरियार) की मूर्ति को ढहा दिया जाएगा।’ पेरियार की मूर्ति तोड़े जाने के बाद बुधवार तड़के, कोयंबटूर में भाजपा कार्यालय पर अज्ञात लोगों ने पेट्रोल बम फेंका।

National Evr Periyar Statue Vandalised In Tamilnadu :

बाद में एच. राजा ने दोबारा फेसबुक पर एक पोस्ट में अपने मंगलवार के पोस्ट को लेकर दिल से खेद जताया। उन्होंने अपने नए पोस्ट में दावा किया कि वह संदेश उनके सोशल मीडिया प्रबंधक द्वारा बिना उनकी मंजूरी के पोस्ट किया गया था और उन्होंने उस पोस्ट को हटा दिया है। भाजपा के राष्ट्रीय सचिव ने अपने पहले वाले पोस्ट के लिए खेद जताया है, जिसको लेकर विवाद भड़का। उन्होंने कहा कि रामासामी की प्रतिमा को नुकसान पहुंचाना ‘माफी योग्य’ नहीं हो सकता।

वह संदेश, जिसे पहले पोस्ट कर बाद में हटा लिया गया था, उसमें कहा गया था, “लेनिन कौन हैं? उनके (लेनिन) और भारत के बीच में क्या संबंध है? साम्यवाद और भारत के बीच में क्या संबंध है?” पोस्ट में कहा गया था, “त्रिपुरा में लेनिन की प्रतिमा को तोड़ दिया गया। आज त्रिपुरा में लेनिन की प्रतिमा के साथ जो हुआ, कल जातिवादी उन्मादी ई.वी.रामासामी की प्रतिमा के साथ भी होगा।”सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक को छोड़कर, तमिलनाडु की सभी अन्य पार्टियों ने एच. राजा की निंदा की थी।

पेरियार की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त करने के लिए मंगलवार देर रात दो व्यक्तियों को वेल्लोर जिले में तिरुपत्तूर से गिरफ्तार किया गया था। इनमें से एक भाजपा सदस्य आर. मुथूरमन है। पेरियार को तमिलनाडु में तर्कसंगत आंदोलन के सूत्रधार और राज्यपिता का दर्जा प्राप्त है। ब्राह्मण कुल में जन्म लेने के बावजूद उन्होंने दलितों और पिछड़े वर्गो के उत्थान के लिए काम किया। परियार की मूर्ति तोड़े जाने के बाद स्थानीय लोगों ने कहा कि यह कारस्तानी दर्शाता है कि भाजपा सामंती सोच रखने वाली पार्टी है।

स्थानीय लोगों में आक्रोश के मद्देनजर भाजपा की तमिलनाडु इकाई ने मुथूरमन को उसकी मूल सदस्यता से बर्खास्त कर दिया। कोयंबटूर में भाजपा कार्यालय पर हमला करने वाले हमलावर तिपहिया वाहन पर आए और कार्यालय के अंदर पेट्रोल बम फेंके। पुलिस मामले की जांच कर रही है। इसबीच, मक्कल निधि मय्यम के अध्यक्ष कमल हासन ने बुधवार को कहा कि रामासामी प्रतिमा विवाद लोगों का ध्यान सर्वोच्च न्यायालय द्वारा निर्देशित कावेरी प्रबंधन बोर्ड के गठन पर से हटाने के लिए छेड़ा गया है।

मंगलवार को कमल ने अन्य राजनेताओं से इस मुद्दे पर अपनी ऊर्जा बर्बाद न करने का आग्रह किया था। उन्होंने कहा था कि ‘हमें अपनी ऊर्जा अच्छे कामों के लिए बचाकर रखनी चाहिए।’

चेन्नई। तमिलमाडु में भाजपा  के एक कार्यालय पर हमले के कुछ घंटे बाद भाजपा के राष्ट्रीय सचिव एच. राजा ने बुधवार को अपने फेसबुक पोस्ट पर खेद जताया। राजा ने अपने पहले पोस्ट में कहा था कि 'राज्य में प्रसिद्ध द्रविड़ नेता ई.वी. रामासामी (पेरियार) की मूर्ति को ढहा दिया जाएगा।' पेरियार की मूर्ति तोड़े जाने के बाद बुधवार तड़के, कोयंबटूर में भाजपा कार्यालय पर अज्ञात लोगों ने पेट्रोल बम फेंका।बाद में एच. राजा ने दोबारा फेसबुक पर एक पोस्ट में अपने मंगलवार के पोस्ट को लेकर दिल से खेद जताया। उन्होंने अपने नए पोस्ट में दावा किया कि वह संदेश उनके सोशल मीडिया प्रबंधक द्वारा बिना उनकी मंजूरी के पोस्ट किया गया था और उन्होंने उस पोस्ट को हटा दिया है। भाजपा के राष्ट्रीय सचिव ने अपने पहले वाले पोस्ट के लिए खेद जताया है, जिसको लेकर विवाद भड़का। उन्होंने कहा कि रामासामी की प्रतिमा को नुकसान पहुंचाना 'माफी योग्य' नहीं हो सकता।वह संदेश, जिसे पहले पोस्ट कर बाद में हटा लिया गया था, उसमें कहा गया था, "लेनिन कौन हैं? उनके (लेनिन) और भारत के बीच में क्या संबंध है? साम्यवाद और भारत के बीच में क्या संबंध है?" पोस्ट में कहा गया था, "त्रिपुरा में लेनिन की प्रतिमा को तोड़ दिया गया। आज त्रिपुरा में लेनिन की प्रतिमा के साथ जो हुआ, कल जातिवादी उन्मादी ई.वी.रामासामी की प्रतिमा के साथ भी होगा।"सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक को छोड़कर, तमिलनाडु की सभी अन्य पार्टियों ने एच. राजा की निंदा की थी।पेरियार की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त करने के लिए मंगलवार देर रात दो व्यक्तियों को वेल्लोर जिले में तिरुपत्तूर से गिरफ्तार किया गया था। इनमें से एक भाजपा सदस्य आर. मुथूरमन है। पेरियार को तमिलनाडु में तर्कसंगत आंदोलन के सूत्रधार और राज्यपिता का दर्जा प्राप्त है। ब्राह्मण कुल में जन्म लेने के बावजूद उन्होंने दलितों और पिछड़े वर्गो के उत्थान के लिए काम किया। परियार की मूर्ति तोड़े जाने के बाद स्थानीय लोगों ने कहा कि यह कारस्तानी दर्शाता है कि भाजपा सामंती सोच रखने वाली पार्टी है।स्थानीय लोगों में आक्रोश के मद्देनजर भाजपा की तमिलनाडु इकाई ने मुथूरमन को उसकी मूल सदस्यता से बर्खास्त कर दिया। कोयंबटूर में भाजपा कार्यालय पर हमला करने वाले हमलावर तिपहिया वाहन पर आए और कार्यालय के अंदर पेट्रोल बम फेंके। पुलिस मामले की जांच कर रही है। इसबीच, मक्कल निधि मय्यम के अध्यक्ष कमल हासन ने बुधवार को कहा कि रामासामी प्रतिमा विवाद लोगों का ध्यान सर्वोच्च न्यायालय द्वारा निर्देशित कावेरी प्रबंधन बोर्ड के गठन पर से हटाने के लिए छेड़ा गया है।मंगलवार को कमल ने अन्य राजनेताओं से इस मुद्दे पर अपनी ऊर्जा बर्बाद न करने का आग्रह किया था। उन्होंने कहा था कि 'हमें अपनी ऊर्जा अच्छे कामों के लिए बचाकर रखनी चाहिए।'