नेशनल हेराल्ड के संपादक नीलाभ मिश्रा का निधन

नेशनल हेराल्ड के संपादक नीलाभ मिश्रा का निधन
नेशनल हेराल्ड के संपादक नीलाभ मिश्रा का निधन

नई दिल्ली। वरिष्ठ पत्रकार और नेशनल हेराल्ड के संपादक नीलाभ मिश्रा का चेन्नई में 24 फरवरी को निधन हो गया। समाचार पत्र ने एक बयान में कहा, 57 साल के पत्रकार नॉन-एल्कोहॉलिक लीवर सिरोसिस की समस्या के कारण गंभीर रूप से बीमार थे जिसके चलते उन्हें फरवरी की शुरुआत में चेन्नई के अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

National Herald Editor Nilabh Mishra Dies :

नेशनल हेराल्ड ने कहा, “लीवर ट्रांस्प्लांट की प्रक्रिया शुरू किए जाने से पहले ही उनके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। उन्होंने अपने परिवार और रिश्तेदारों के बीच अंतिम सांस ली।”मिश्रा ने 2016 में नेशनल हेराल्ड को एक डिजिटल वेबसाइट के रूप में दोबारा शुरू किया था। नेशनल हेराल्ड की स्थापना देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने 1938 में की थी। इसके बाद 2017 में मिश्रा ने नेशनल हेराल्ड को रविवारीय समाचार पत्र के रूप में फिर से लॉन्च किया था।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मिश्रा को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि मिश्रा वह शख्स थे जो सत्ता के बार में सच बोलते थे। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “एक संस्थान निर्माता, नीलभ मिश्रा के अचानक निधन पर उनके परिवार, मित्रों, सहकर्मियों और प्रशंसकों को मेरी दिली संवेदनाएं।”

नई दिल्ली। वरिष्ठ पत्रकार और नेशनल हेराल्ड के संपादक नीलाभ मिश्रा का चेन्नई में 24 फरवरी को निधन हो गया। समाचार पत्र ने एक बयान में कहा, 57 साल के पत्रकार नॉन-एल्कोहॉलिक लीवर सिरोसिस की समस्या के कारण गंभीर रूप से बीमार थे जिसके चलते उन्हें फरवरी की शुरुआत में चेन्नई के अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया था।नेशनल हेराल्ड ने कहा, "लीवर ट्रांस्प्लांट की प्रक्रिया शुरू किए जाने से पहले ही उनके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। उन्होंने अपने परिवार और रिश्तेदारों के बीच अंतिम सांस ली।"मिश्रा ने 2016 में नेशनल हेराल्ड को एक डिजिटल वेबसाइट के रूप में दोबारा शुरू किया था। नेशनल हेराल्ड की स्थापना देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने 1938 में की थी। इसके बाद 2017 में मिश्रा ने नेशनल हेराल्ड को रविवारीय समाचार पत्र के रूप में फिर से लॉन्च किया था।कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मिश्रा को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि मिश्रा वह शख्स थे जो सत्ता के बार में सच बोलते थे। उन्होंने ट्वीट कर कहा, "एक संस्थान निर्माता, नीलभ मिश्रा के अचानक निधन पर उनके परिवार, मित्रों, सहकर्मियों और प्रशंसकों को मेरी दिली संवेदनाएं।"