भारत बना दुनिया का दूसरा सबसे सस्ता देश

भारत बना दुनिया का दूसरा सबसे सस्ते देश
भारत बना दुनिया का दूसरा सबसे सस्ते देश

नई दिल्ली। गो बैंकिंग रेट्स ने दुनिया के 112 देशों का सर्वेक्षण किया जिसमें पता चला कि रहने के लिहाज से भारत दुनिया का दूसरा सबसे सस्ता देश है। सर्वेक्षण में पता चला कि दक्षिण अफ्रीका पहले स्थान पर है।

सर्वेक्षण में स्थानीय क्रयशक्ति सूचकांक, किराया सूचकांक, आम उपभोग की वस्तुओं के (ग्रॉसरी) सूचकांक और उपभोक्ता मूल्य सूचकांक मानकों के आधार पर रैंकिंग की गई है। दुनिया के 50 सबसे सस्ते देशों में किराया सूचकांक में भारत दूसरे क्रम पर है। सबसे ऊपर पड़ोसी देश नेपाल का नाम आता है। उपभोक्ता सामान और ग्रॉसरी की कीमतों के हिसाब से भी भारत सबसे सस्ता देश है।

{ यह भी पढ़ें:- Trade War: मोदी सरकार ने ट्रंप को दिया करारा जवाब, अमेरिकी उत्‍पादों पर बढ़ाया आयात शुल्‍क }

सर्वेक्षण के हिसाब से 125 करोड़ की आबादी वाला भारत दुनिया के 50 सबसे सस्ते और ज्यादा आबादी वाले देशों में से एक है। यहां प्रमुख उद्योग कपड़ा, रसायन और खाद्य प्रसंस्करण हैं। इसके अलावा सर्वेक्षण के अनुसार भारतीयों की स्थानीय क्रयशक्ति 20.9% सस्ती, किराया 95.2% सस्ता, ग्रॉसरी की कीमत 74.4% सस्ती और स्थानीय सामान और सेवाएं 74.9% सस्ती है।

भारत के पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान का इस सूची में 14वां स्थान है। इसके अलावा कोलंबिया का 13वां, नेपाल का 28वां और बांग्लादेश का 40वां स्थान है।

{ यह भी पढ़ें:- Honda ने लॉंच किया अमेज का नया मॉडल, जानिए कीमत और फीचर्स }

नई दिल्ली। गो बैंकिंग रेट्स ने दुनिया के 112 देशों का सर्वेक्षण किया जिसमें पता चला कि रहने के लिहाज से भारत दुनिया का दूसरा सबसे सस्ता देश है। सर्वेक्षण में पता चला कि दक्षिण अफ्रीका पहले स्थान पर है। सर्वेक्षण में स्थानीय क्रयशक्ति सूचकांक, किराया सूचकांक, आम उपभोग की वस्तुओं के (ग्रॉसरी) सूचकांक और उपभोक्ता मूल्य सूचकांक मानकों के आधार पर रैंकिंग की गई है। दुनिया के 50 सबसे सस्ते देशों में किराया सूचकांक में भारत दूसरे क्रम पर…
Loading...