CM कमलनाथ के भतीजे की कंपनी पर छापे में 1,350 करोड़ रुपए से अधिक की कर चोरी पकड़ी गई

kamak nath
CM कमलनाथ के भतीजे की कंपनी पर छापे में 1,350 करोड़ रुपए से अधिक की कर चोरी पकड़ी गई

नई दिल्ली। विभाग ने हिन्दुस्तान पॉवर प्रोजेक्ट्स पर छापे और तलाशी के दौरान 1,350 करोड़ रुपए से अधिक की कर चोरी पकड़ी है। यह कंपनी मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भतीजे की है। यह सौर ऊर्जा क्षेत्र में काम करती है।केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने सोमवार को कहा कि ये छापे इस महीने की शुरुआत में दिल्ली-एनसीआर, भोपाल, इंदौर और गोवा में मारे गए।

National Tax Evasion Of Over Rs 1 350 Cr Detected In Raids Against Co Owned By Kamal Nath S Nephew :

ये छापे आयकर (अन्वेषण) महानिदेशालय ने अहम और विश्वसनीय सूचना के आधार पर मारे हैं। यह सूचना कंपनी में बड़े पैमाने पर बिना हिसाब किताब वाली संपत्ति के संग्रह, उसे रखने और इधर- उधर करने से संबंधित थी। हालांकि, सीबीडीटी ने अपने बयान में कंपनी का नाम नहीं लिया है।

सूत्रों के अनुसार छापे कमलनाथ के भतीजराहुल पुरी की कंपनी हिंदुस्तान पावर प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड पर सात अप्रैल को मारे गए। सीबीडीटी ने कहा कि ये छापे विश्वसनीय सूचना के आधार पर मारे गये और इसमें 1,350 करोड़ रुपये से अधिक कर चोरी पकड़ी गई। पुरी से अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदा घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय की जांच के दौरान पूछताछ की जा चुकी है।

नई दिल्ली। विभाग ने हिन्दुस्तान पॉवर प्रोजेक्ट्स पर छापे और तलाशी के दौरान 1,350 करोड़ रुपए से अधिक की कर चोरी पकड़ी है। यह कंपनी मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भतीजे की है। यह सौर ऊर्जा क्षेत्र में काम करती है।केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने सोमवार को कहा कि ये छापे इस महीने की शुरुआत में दिल्ली-एनसीआर, भोपाल, इंदौर और गोवा में मारे गए। ये छापे आयकर (अन्वेषण) महानिदेशालय ने अहम और विश्वसनीय सूचना के आधार पर मारे हैं। यह सूचना कंपनी में बड़े पैमाने पर बिना हिसाब किताब वाली संपत्ति के संग्रह, उसे रखने और इधर- उधर करने से संबंधित थी। हालांकि, सीबीडीटी ने अपने बयान में कंपनी का नाम नहीं लिया है। सूत्रों के अनुसार छापे कमलनाथ के भतीजराहुल पुरी की कंपनी हिंदुस्तान पावर प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड पर सात अप्रैल को मारे गए। सीबीडीटी ने कहा कि ये छापे विश्वसनीय सूचना के आधार पर मारे गये और इसमें 1,350 करोड़ रुपये से अधिक कर चोरी पकड़ी गई। पुरी से अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदा घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय की जांच के दौरान पूछताछ की जा चुकी है।