राष्ट्रगीत या राष्ट्रगान गाना सही या गलत, इसपर भी सोचना पड़ रहा है: सीएम योगी

लखनऊ। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज एक कार्यक्रम के दौरान देश के साथ प्रदेश की मानसिकता पर चिंता जाहिर किया। योगी ने समाज में चल रहे ताजा विवाद की ओर ध्यान केन्द्रित करते हुए कहा कि हम इस आधुनिक युग में विकास की बात तो कर रहे है लेकिन हमारे समाज की मानसिकता इतनी छोटी है कि देश या प्रदेश में राष्ट्रगीत या राष्ट्रगान गाना उचित है कि नहीं। इस विषय पर हम बहस कर रहे है। साथ ही योगी ने उन लोगों की निंदा करते हुए कहा कि कुछ लोग कह रहे हैं हम वंदे मातरम नहीं गायेंगे। यह एक गंभीर मुद्दा है। इन तरह की सोच से उभरने के लिए हम सबको एक मार्ग तलाशने होगा।




दरअसल योगी राजभवन में एक पुस्तक विमोचन के कार्यक्रम में पहुंचे थे इस दौरान योगी ने कहा, कुछ लोग कह रहे हैं कि हम वंदे मातरम नहीं कहेंगे। हम इस देश को 21वीं सदी में आगे बढाना चाहते हैं लेकिन विवाद का विषय यह है कि हम (वन्दे मातरम) गायेंगे या नहीं।



योगी आदित्यनाथ ने कहा, संकीर्णताओं से उबरने के लिए हम सबको मार्ग तलाशना होगा। उन्होंने हाल ही में इलाहाबाद में हुए हाईकोर्ट की 150वीं जयंती के समापन समारोह का जिक्र करते हुए कहा कि हाईकोर्ट की 150वीं जयंती मनायी गई थी। कार्यक्रम का शुभारंभ ही राष्ट्रगीत से हुआ। वह कितने गर्व की बात है। ऐसे पल के दौरान हर एक देश प्रेमी को गर्व होना चाहिए।