RSS नेता इंद्रेश कुमार ने आमिर, नसीरुद्दीन और सिद्धू को बताया गद्दार

indresh
RSS नेता इंद्रेश कुमार ने आमिर, नसीरुद्दीन और सिद्धू को बताया गद्दार

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) इंद्रेश कुमार (Indresh Kumar) ने कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्दू (Navjot Singh Sidhu) और एक्टर आमिर खान-नसीरुद्दीन शाह की राजपुर किंग जयचंद और बंगाल मीर जाफर के नजाफी नवाब से तुलना करते हुए तीनों को ‘देशद्रोही’ करार दिया। सोमवार को अलीगढ़ में एक कार्यक्रम के बाद मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि भारत को अजमल कसाब जैसे मुस्लिम युवाओं की जरूरत नहीं है, बल्कि पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम जैसों की जरूरत है।

Navjot Singh Sidhu And Naseeruddin Shah Are Traitors Says Indresh Kumar :

इंद्रेश कुमार ने कहा, “भारत को कसाब, याकूब और इशरत जहां जैसे मुस्लिम युवाओं की जरूरत नहीं हैं जबकि इसके बजाय ऐसे युवाओं की जरूरत है जो एपीजे अब्‍दुल कलाम के बताए रास्‍ते पर चलें। जो कसाब की राह पर चलेंगे, उनको ‘देशद्रोही’ ही माना जाएगा।” इसी कड़ी में उन्‍होंने कहा, “ये अच्‍छे एक्‍टर (नवजोत सिंह सिद्धू, नसीरुद्दीन शाह और आमिर खान) हो सकते हैं लेकिन ये सम्‍मान के लायक नहीं हैं क्‍योंकि ये देशद्रोही हैं। ये लोग मीर जाफर और जयचंद की तरह हैं।”

अयोध्‍या केस

उन्होंने यह भी कहा कि अयोध्या मामले की सुनवाई में देरी के लिए कांग्रेस, वामपंथी दल, सांप्रदायिक धार्मिक बल और कुछ न्यायाधीश जिम्मेदार हैं। कुमार ने कहा,’राम मंदिर के निर्माण में देरी का पहला कारण कांग्रेस है, दूसरा वामपंथी दल हैं, तीसरा सांप्रदायिक धार्मिक बल है, और चौथे कुछ न्यायाधीश हैं जो न्याय में देरी कर रहे हैं। मैं संतों और साधुओं से अपील करता हूं कि वे कांग्रेस कार्यालय के बाहर, वाम दलों के कार्यालय और न्यायाधीशों के घर के बाहर धरने पर बैठें, जो इस मामले में देरी कर रहे हैं।’

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) इंद्रेश कुमार (Indresh Kumar) ने कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्दू (Navjot Singh Sidhu) और एक्टर आमिर खान-नसीरुद्दीन शाह की राजपुर किंग जयचंद और बंगाल मीर जाफर के नजाफी नवाब से तुलना करते हुए तीनों को ‘देशद्रोही’ करार दिया। सोमवार को अलीगढ़ में एक कार्यक्रम के बाद मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि भारत को अजमल कसाब जैसे मुस्लिम युवाओं की जरूरत नहीं है, बल्कि पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम जैसों की जरूरत है।इंद्रेश कुमार ने कहा, "भारत को कसाब, याकूब और इशरत जहां जैसे मुस्लिम युवाओं की जरूरत नहीं हैं जबकि इसके बजाय ऐसे युवाओं की जरूरत है जो एपीजे अब्‍दुल कलाम के बताए रास्‍ते पर चलें। जो कसाब की राह पर चलेंगे, उनको 'देशद्रोही' ही माना जाएगा।" इसी कड़ी में उन्‍होंने कहा, "ये अच्‍छे एक्‍टर (नवजोत सिंह सिद्धू, नसीरुद्दीन शाह और आमिर खान) हो सकते हैं लेकिन ये सम्‍मान के लायक नहीं हैं क्‍योंकि ये देशद्रोही हैं। ये लोग मीर जाफर और जयचंद की तरह हैं।"अयोध्‍या केसउन्होंने यह भी कहा कि अयोध्या मामले की सुनवाई में देरी के लिए कांग्रेस, वामपंथी दल, सांप्रदायिक धार्मिक बल और कुछ न्यायाधीश जिम्मेदार हैं। कुमार ने कहा,'राम मंदिर के निर्माण में देरी का पहला कारण कांग्रेस है, दूसरा वामपंथी दल हैं, तीसरा सांप्रदायिक धार्मिक बल है, और चौथे कुछ न्यायाधीश हैं जो न्याय में देरी कर रहे हैं। मैं संतों और साधुओं से अपील करता हूं कि वे कांग्रेस कार्यालय के बाहर, वाम दलों के कार्यालय और न्यायाधीशों के घर के बाहर धरने पर बैठें, जो इस मामले में देरी कर रहे हैं।'