1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. कांग्रेस हाईकमान से मिले नवजोत सिंह सिद्धू, बोले- हारेंगी पंजाब विरोधी ताकतें

कांग्रेस हाईकमान से मिले नवजोत सिंह सिद्धू, बोले- हारेंगी पंजाब विरोधी ताकतें

पंजाब में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नेता नवजोत सिंह सिद्धू के बीच तनाव को खत्म करने के लिए पार्टी हाईकमान सक्रिय हो गया है। इसके लिए राजधानी दिल्ली में हाईकमान की एक बैठक आयोजित हुई, जिसमें सिद्धू को बुलाया गया था। मुलाकात के बाद सिद्धू ने कहा है कि सच कभी भी पराजित नहीं हो सकता है। पूर्व क्रिकेटर के साथ इस दौरान कांग्रेस के कुछ विधायक भी मौजूद थे।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Navjot Singh Sidhu Met Congress High Command Said Anti Punjab Forces Will Be Defeated

नई दिल्ली। पंजाब में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नेता नवजोत सिंह सिद्धू के बीच तनाव को खत्म करने के लिए पार्टी हाईकमान सक्रिय हो गया है। इसके लिए राजधानी दिल्ली में हाईकमान की एक बैठक आयोजित हुई, जिसमें सिद्धू को बुलाया गया था। मुलाकात के बाद सिद्धू ने कहा है कि सच कभी भी पराजित नहीं हो सकता है। पूर्व क्रिकेटर के साथ इस दौरान कांग्रेस के कुछ विधायक भी मौजूद थे।

पढ़ें :- यूपी बोर्ड के मूल्यांकन फॉर्मूले पर सीएम योगी ने लगाई मुहर, जानें कब जारी होगा रिजल्‍ट?

मंगलवार को हाईकमान से मुलाकात के बाद सिद्धू ने कहा कि मैं यहां जमीनी स्तर से लेकर हाई कमान तक लोगों की आवाज पेश करने आया हूं। लोकतांत्रिक शक्ति पर मेरा मत वही है। लोगों की सत्ता को लोगों के पास लौटना चाहिए। मैंने एकदम सच कहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सिद्धू ने इस दौरान कहा कि सत्य कभी भी पराजित नहीं हो सकता, हमें पंजाब को जिताना है। उन्होंने कहा है कि पंजाब विरोधी हर ताकत हारेंगी ।

पंजाब कांग्रेस नेताओं के बीच झगड़े को सुलझाने के लिए सोनिया गांधी ने एक टीम गठित की है। इस कमेटी ने सोमवार को पहली बार बैठक आयोजित की थी, जिसमें पार्टी के 25 विधायकों को बुलाया गया था। पार्टी के शीर्ष नेतृत्व की तरफ से तैयार की गई टीम की अगुवाई उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत कर रहे हैं।

भाषा के अनुसार, पार्टी नेताओं के एक धड़े ने वर्ष 2015 में फरीदकोट के कोटकपुरा में बेअदबी मामले के बाद हुई गोलीबारी की घटना में की गई कार्रवाई को लेकर असंतोष जाहिर किया था। पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय द्वारा पिछले महीने कोटकपुरा गोलीबारी मामले में जांच रद्द किए जाने के बाद सिद्धू लगातार इस मामले से निपटने में विफल रहने का आरोप लगाते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की आलोचना कर रहे हैं।

पैनल के सदस्य जेपी अग्रवाल ने सोमवार को कहा था, ‘कुछ लोग मुश्किल दौर में मौके तलाशने की कोशिश कर रहे हैं। उनका भी पर्दाफाश किया जाएगा। जिन लोगों ने पार्टी को धोखा दिया है उनका भी हिसाब किया जाएगा, ताकि पार्टी को फायदा हो और एक होकर आगामी चुनाव लड़ा जा सके।

पढ़ें :- सलमान खुर्शीद ने कांग्रेस के ‘G-23’ नेताओं से पूछा पहले फायदा उठाया फिर सवाल क्यूं?

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X