1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Navjot Singh Sidhu बोले- सिद्धांतों से समझौता नहीं करूंगा और सच की लड़ाई आखिरी दम तक लड़ूगा

Navjot Singh Sidhu बोले- सिद्धांतों से समझौता नहीं करूंगा और सच की लड़ाई आखिरी दम तक लड़ूगा

पंजाब कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष (Punjab Congress State President) पद से इस्तीफा देने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) का बुधवार को  पहला बयान सामने आया है। पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress) में मची खलबली के बीच नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने अपने एक वीडियो संदेश जारी किया है। जिसमें उन्होंने कहा है कि वह आखिरी दम तक हक और सच की लड़ाई लड़ते रहेंगे।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। पंजाब कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष (Punjab Congress State President) पद से इस्तीफा देने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) का
बुधवार को  पहला बयान सामने आया है। पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress) में मची खलबली के बीच नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने अपने एक वीडियो संदेश जारी किया है। जिसमें उन्होंने कहा है कि वह आखिरी दम तक हक और सच की लड़ाई लड़ते रहेंगे। बता दें कि मंगलवार को नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने पंजाब कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष (Punjab Congress State President) पद से इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद पंजाब (Punjab) में सियासी घमासान जारी है।

पढ़ें :- Weather Update : कड़ाके की ठंड से बचने को रहें तैयार, उत्तर भारत में -4 डिग्री तक गिर सकता है पारा

ट्विटर पर जारी एक वीडियो संदेश में नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने कहा कि यह व्यक्तिगत लड़ाई नहीं, बल्कि सिद्धांतों की लड़ाई है। उन्होंने कहा कि मैं सिद्धांतों से समझौता नहीं करूंगा और हक व सच की लड़ाई आखिरी दम तक लड़ता रहूंगा। उन्होंने कहा कि वह दागी मंत्रियों को वापस लाए जाने को कभी स्वीकार नहीं करेंगे।

पढ़ें :- पंजाब में PCS अधिकारी सामूहिक अवकाश पर गए, सीएम ने दिया अल्टीमेटम, 2 बजे तक काम पर लौटे नहीं तो होंगे सस्पेंड

बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने पहले कैप्टन अमरिंदर सिंह (Capt Amarinder Singh) को मुख्यमंत्री की कुर्सी से हटवाया। इसके बाद चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) को मुख्यमंत्री बनवाया। सिद्धू की पहल के बाद ही चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi)  ने राज्य चुनाव से सिर्फ चार महीने पहले पदभार ग्रहण किया। माना जा रहा है कि सिद्धू कथित तौर पर चन्नी के अपने मंत्रिमंडल के लिए चयन से नाखुश हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...