राहुल गांधी के कहने पर गया था पाकिस्तान: नवजोत सिंह सिद्धू

राहुल गांधी के कहने पर गया था पाकिस्तान: नवजोत सिंह सिद्धू
राहुल गांधी के कहने पर गया था पाकिस्तान: नवजोत सिंह सिद्धू

नई दिल्ली। पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को कहा कि वह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी थे, जिन्होंने उन्हें करतारपुर गलियारे के आधारशिला समारोह में भाग लेने के लिए पाकिस्तान भेजा। नवजोत सिंह सिद्धू ने हैदराबाद में एक प्रेसवार्ता में पूछे गए प्रश्न का जवाब देते हुए कहा, “मेरे कैप्टन राहुल गांधी हैं। उन्होंने जहां जरूरत लगी, मुझे हर जगह भेजा।”

Navjot Singh Sidhu Said Went Pakistan After Rahul Gandhi Order :

सिद्धू ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मुझे पाकिस्तान जाने से मना किया था। लेकिन करीब 20 कांग्रेसी नेताओं और केंद्रीय नेतृत्व के कहने पर मैं पाकिस्तान गया था। पंजाब के सीएम मेरे पिता के समान हैं। मैं उनसे पहले ही बता चुका था कि मैं पाकिस्तान जाऊंगा। मेरे कप्तान राहुल गांधी हैं और सीएम साहब के कप्तान भी राहुल गांधी हैं।

कांग्रेस के लिए प्रचार करने यहां पहुंचे सिद्धू ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उन्हें पाकिस्तान जाने से मना किया था। लेकिन शशि थरूर, हरीश रावत और रणदीप सुरजेवाला समेत 50-100 कांग्रेसी नेताओं ने यात्रा से लौटकर उनकी पीठ थपथपाई। उन्होंने यह भी कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री उनके पिता समान हैं।

मैंने कभी नहीं छोड़ी गुगली’

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के बयान पर सिद्धू ने कहा, ‘आप एक बल्लेबाज को गुगली कैसे डाल सकते हो। मैंने ऐसी गेंद कभी नहीं छोड़ी।’ कुरैशी ने कहा था कि प्रधानमंत्री इमरान खान की गुगली ने भारत सरकार को अपने दो मंत्री करतारपुर कार्यक्रम में भेजने को मजबूर कर दिया।

‘इमरान का मतलब था, मैं वहां भी लोकप्रिय’

इमरान खान के इस बयान पर कि वह पाकिस्तान में आसानी से चुनाव जीत सकते हैं, सिद्धू ने कहा- पाकिस्तानी प्रधानमंत्री का कहने का मतलब था कि वह (सिद्धू) वहां भी काफी लोकप्रिय हैं और वहां के लोग भी उन्हें काफी प्यार करते हैं।

नई दिल्ली। पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को कहा कि वह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी थे, जिन्होंने उन्हें करतारपुर गलियारे के आधारशिला समारोह में भाग लेने के लिए पाकिस्तान भेजा। नवजोत सिंह सिद्धू ने हैदराबाद में एक प्रेसवार्ता में पूछे गए प्रश्न का जवाब देते हुए कहा, "मेरे कैप्टन राहुल गांधी हैं। उन्होंने जहां जरूरत लगी, मुझे हर जगह भेजा।"सिद्धू ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मुझे पाकिस्तान जाने से मना किया था। लेकिन करीब 20 कांग्रेसी नेताओं और केंद्रीय नेतृत्व के कहने पर मैं पाकिस्तान गया था। पंजाब के सीएम मेरे पिता के समान हैं। मैं उनसे पहले ही बता चुका था कि मैं पाकिस्तान जाऊंगा। मेरे कप्तान राहुल गांधी हैं और सीएम साहब के कप्तान भी राहुल गांधी हैं।कांग्रेस के लिए प्रचार करने यहां पहुंचे सिद्धू ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उन्हें पाकिस्तान जाने से मना किया था। लेकिन शशि थरूर, हरीश रावत और रणदीप सुरजेवाला समेत 50-100 कांग्रेसी नेताओं ने यात्रा से लौटकर उनकी पीठ थपथपाई। उन्होंने यह भी कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री उनके पिता समान हैं।

मैंने कभी नहीं छोड़ी गुगली'

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के बयान पर सिद्धू ने कहा, 'आप एक बल्लेबाज को गुगली कैसे डाल सकते हो। मैंने ऐसी गेंद कभी नहीं छोड़ी।' कुरैशी ने कहा था कि प्रधानमंत्री इमरान खान की गुगली ने भारत सरकार को अपने दो मंत्री करतारपुर कार्यक्रम में भेजने को मजबूर कर दिया।

'इमरान का मतलब था, मैं वहां भी लोकप्रिय'

इमरान खान के इस बयान पर कि वह पाकिस्तान में आसानी से चुनाव जीत सकते हैं, सिद्धू ने कहा- पाकिस्तानी प्रधानमंत्री का कहने का मतलब था कि वह (सिद्धू) वहां भी काफी लोकप्रिय हैं और वहां के लोग भी उन्हें काफी प्यार करते हैं।