1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Shardiya Navratri 2022 : बेहद शुभ संयोग में 26 सितंबर को करें कलश स्थापना, हाथी पर सवार होकर आ रही हैं माता रानी

Shardiya Navratri 2022 : बेहद शुभ संयोग में 26 सितंबर को करें कलश स्थापना, हाथी पर सवार होकर आ रही हैं माता रानी

Shardiya Navratri 2022 : शारदीय नवरात्र की शुरुआत 26 सितंबर से हो रही है। इस बार माता रानी (Mata Rani) सोमवार को हाथी पर सवार होकर आ रही है। मां दुर्गा का आगमन और प्रस्थान दोनों हाथी पर होगा। मान्यता है कि माता का हाथी पर प्रस्थान शुभ होता है। इस सवारी पर माता के आने और जाने से माता का सभी के दुख, रोग, संताप, शोक आदि ले जाती हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Shardiya Navratri 2022 : शारदीय नवरात्र की शुरुआत 26 सितंबर से हो रही है। इस बार माता रानी (Mata Rani) सोमवार को हाथी पर सवार होकर आ रही है। मां दुर्गा का आगमन और प्रस्थान दोनों हाथी पर होगा। मान्यता है कि माता का हाथी पर प्रस्थान शुभ होता है। इस सवारी पर माता के आने और जाने से माता का सभी के दुख, रोग, संताप, शोक आदि ले जाती हैं। हाथी पर माता के आगमन और प्रस्थान से माता रानी अपने भक्तों को धन-धान्य का आशीर्वाद देकर जाती हैं।

पढ़ें :- Shardiya Navratri 2022 : नवरात्रि व्रत के हैं कई फायदे, बस इन बातों का जरूर रखें ख्याल

यह भी कहा जाता है कि माता की हाथी की सवारी (Mata Rani is Coming Riding on an Elephant)और प्रस्थान से पानी की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इससे पहले की बात करें तो माता डोली पर बैठकर आईं थीं और हाथी में बैठकर गईं थी। इसके अलावा माता शेर, घोड़ा और नाव पर बैठकर भी आती हैं।

महालया के बाद 26 सितंबर को घरों में कलश स्थापना (Establish the Kalash) की जाएगी। नवरात्रि के नौ दिन माता के नौ रूपों की पूजा की जाती है। इसके बाद अष्टमी तिथि और नवमी तिथि को कन्या भोज कराया जाता है। इस बार 4 अक्टूबर को महानवमी (Mahanavami) के बाद 5 अक्टूबर को दशहरा का पर्व (Dussehra Festival) मनाया जाएगा।

 

पढ़ें :- Shardiya Navratri 2022 : मां दुर्गा के इन 7 सिद्ध मंत्रों करें जाप, पूरी होगी हर मनोकामना
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...