1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. नौसेना की बढ़ी ताकत: ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण

नौसेना की बढ़ी ताकत: ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण

Navys Increased Power Successful Test Of Brahmos Supersonic Cruise Missile

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। भारत ने रविवार को नौसेना के स्वदेशी स्टील्थ डिस्ट्रॉयर आईएनएस चेन्नई से ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया। परीक्षण के दौरान मिसाइल ने अरब सागर में एक लक्ष्य पर निशाना लगाया। डिफेंस रिसर्च एंड डिवेलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (DRDO) ने एक बयान जारी करके यह जानकारी दी है।

पढ़ें :- यूपी विधानसभा में ध्वनि मत से पारित हुआ लव जिहाद विधेयक, विधान परिषद में होगी परीक्षा

अरब सागर में INS चेन्नई से दागे गए मिसाइल ने उच्चस्तरीय और बेहद जटिल युद्धाभ्यास के बाद लक्ष्य को सटीकता से पिन-पॉइंट सटीकता से मार गिराया। डीआरडीओ ने कहा कि ब्रह्मोस एक ‘प्राइम स्ट्राइक वेपन’ है, जो लंबी दूरी पर मौजूद सतह के लक्ष्यों को उलझाकर युद्धपोत की अजेयता सुनिश्चित करेगा। इस तरह विध्वंसक को भारतीय नौसेना का एक और घातक मंच बना देगा।

बता दें कि, ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल 400 किलोमीटर से ज्यादा दूरी तक टारगेट को ध्वस्त कर सकती है। ब्रह्मोस एक रैमजेट सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल है, जिसे पनडुब्बी, युद्धपोत, लड़ाकू विमानों और जमीन से भी लॉन्च किया जा सकता है। ब्रह्मोस मिसाइल को भारत और रूस के संयुक्त उपक्रम के तहत विकसित किया गया है।

शुरुआत में इसकी रेंज 290 किलोमीटर थी। हालांकि इसकी क्षमता को बढ़ाकर 400 किलोमीटर से ज्यादा किया गया है। कुछ अनुमानों के मुताबिक, सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल 450 किलोमीटर से अधिक दूरी तक दुश्मन के टारगेट को तबाह कर सकती है।

 

पढ़ें :- ममता बनर्जी ने पीएम मोदी पर बोला हमला, कहा-भाजपा सबसे बड़ी दंगाबाज और डंडेबाज है

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...