1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. शरद पवार के पीएम मोदी से मुकालत पर नवाब मलिक की सफाई, बोले- बीजेपी और एनसीपी नदी के दो किनारे

शरद पवार के पीएम मोदी से मुकालत पर नवाब मलिक की सफाई, बोले- बीजेपी और एनसीपी नदी के दो किनारे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) चीफ शरद पवार की करीब एक घंटे मुलाकात चली। इसके के बाद राजनीतिक गलियारों में अटकलों का बाजार इस तरह गर्म हुआ कि महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी सरकार में शामिल एनसीपी को शाम तक सफाई देनी पड़ी है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) चीफ शरद पवार की करीब एक घंटे मुलाकात चली। इसके के बाद राजनीतिक गलियारों में अटकलों का बाजार इस तरह गर्म हुआ कि महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी सरकार में शामिल एनसीपी को शाम तक सफाई देनी पड़ी है।

पढ़ें :- Mulayam Singh Yadav jeevan parichay : पिता की ख्वाहिश थी बेटा करे पहलवानी, पर मुलायम सिंह यादव बने सियासत के पक्के​​ खिलाड़ी

एनसीपी नेता नवाब मलिक ने पवार की पीएम के साथ मुलाकात का एजेंडा मीडिया से साझा किया। पीयूष गोयल और राजनाथ से मुलाकातों का भी ब्योरा देते हुए नवाब मलिक ने कहा कि पवार ने उद्धव ठाकरे और कांग्रेस नेताओं को पहले ही इसके बारे में जानकारी दे दी थी।

नवाब मलिक ने कहा कि एनसीपी चीफ शरद पवार ने पीएम मोदी से बैंकिंग रेग्युलेशन एक्ट में केंद्र सरकार से किए गए संशोधन को लेकर मुलाकात की है। उन्होंने बताया कि इस एक्ट में सहकारी बैंकों के अधिक कम कर दिए गए हैं। पीएम और पवार की बैठक पर कहा कि इसको लेकर केवल अफवाहें फैलाई जा रही हैं। उन्होंने बताया कि पवार ने पीएम मोदी से अपॉइंटमेंट लेकर मुलाकात की है।

नवाब मलिक ने कहा कि बीजेपी और एनसीपी को नदी के दो किनारे हैं। उन्होंने कहा कि जब तक इसमें पानी है वे साथ नहीं आ सकते हैं। मलिक ने कहा कि बीजेपी और एनसीपी नदी के दो किनारे हैं, दोनों तब तक नजदीक नहीं आ सकते, जबकि नदी में पानी है। हम पूरी तरह वैचारिक रूप से और राजनीतिक रूप से अलग हैं ।

मलिक ने बताया कि एनसीपी चीफ शरद पवार दो दिन से दिल्ली में हैं। राज्यसभा में बीजेपी के नेता नियुक्त किए गए पीयूष गोयल ने उन्हें फोन किया था। शुक्रवार को शरद पवार ने रक्षामंत्री राजनाथ से भी मुलाकात की थी। कांग्रेस नेता एके एंटनी और सेना प्रमुख भी इस दौरान मौजूद थे। इस दौरान सरकार ने सीमा के हालात को लेकर जानकारी दी। नवाब मलिक ने बताया कि दोनों पूर्व रक्षामंत्रियों ने इस तरह के मामलों से निपटने में अपने अनुभव भी सरकार के साथ साझा किए हैं।

पढ़ें :- पीएम मोदी की रैली से पहले जिला प्रशासन की नई शर्त पत्रकारों को देना होगा चरित्र प्रमाण पत्र

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...