नवाज ‘शरीफ’ नहीं हैं, SC ने PM पद के लिए ‘अयोग्य’ करार दिया

इस्लामाबाद। पाकिस्तान की सर्वोच्च अदालत ने शुक्रवार को पनामा पेपर्स लीक मामले में प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को दोषी करार दिया है। जस्टिस आसिफ सईद खोसा की अगुआई वाली पांच जजों की बेंच ने यह फैसला सुनाया है। बेंच ने शरीफ के खिलाफ मामला दर्ज करने और शरीफ को पीएम पद के लिए अयोग्य ठहराने का भी आदेश दिया है।

पनामा मामले में जांच दल ने शरीफ की आय से अधिक संपत्ति का खुलासा किया था। सर्वोच्च अदालत ने अपने फैसले में प्रधानंमत्री नवाज शरीफ को इस पद के लिए ‘अयोग्य’ करार दिया है। पांच जजों की बेंच में जस्टिस आसिफ सईद खोसा, जस्टिस एजाज अफजल खान, जस्टिस गुलजार अहमद, जस्टिस शेख अजमद सईद और जस्टिस इजाजुल अहसान शामिल थे। शरीफ के खिलाफ यह फैसला सुप्रीम कोर्ट रूम नं. 1 में सुनाया गया।

नवाज शरीफ को अब कुर्सी छोड़नी पड़ेगी। उम्मीद की जा रही है कि उनके छोटे भाई शहबाज शरीफ की प्रधानमंत्री पद पर ताजपोशी तय है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को अगर सुप्रीम कोर्ट संवेदनशील पनामा पेपर्स मामले में कथित भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग के लिए अयोग्य ठहराने के बाद उनके छोटे भाई एवं पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री शहबाज उनकी जगह ले सकते हैं।