पाकिस्तान : जेल में बंद पूर्व पाक प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की तबियत बिगड़ी

रावलपिंडी। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की रावलपिंडी जेल में आज अचानत तबियत ​बिगड़ गई। जेल डाक्टरों ने उनकी किडनी फेल होने का खतरा बताया है। जिसके बाद मेडिकल बोर्ड ने उन्हे जेल से अस्पताल में शिफ्ट करने को कहा। बताया जा रहा है कि शरीफ के खून में यूरिया की मात्रा खतरे के स्तर तक बढ़ गई है, उनके दिल की धड़कनें अनियमित हैं और वह डिहाइड्रेशन से पीड़ित हैं।

Nawaz Sharif On The Verge Of Kidney Failure Im Rawalpindi Jail :

बताया जा रहा है कि जेल में मौजूद हॉस्पिटल में ऐसी सुविधाएं मौजूद नहीं हैं जिसके जरिए शरीफ को नसों के जरिए फ्लूइड चढ़ाया जा सके। इसलिए उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती किए जाने की जरूरत है। डाक्टरों ने के मुताबिक अगर ऐसा नही किया गया तो उनकी तबियत और भी ज्यादा बिगड़ सकती है। इस मामले पर पाकिस्तान की अंतरिम सरकार जल्द फैसला ले सकती है।

रावलपिंडी इंस्टिट्यूट ऑफ कार्डियॉलजी के चीफ एक्जिक्यूटिव मेजर जनरल (रिटायर्ड) डॉक्टर अजहर महमूद कयानी के नेतृत्व में डॉक्टरों की एक टीम ने जेल में जाकर शरीफ का मेडिकल चेकअप किया और एक डीटेल्ड रिपोर्ट तैयार की है। जिसके बाद जेल प्रशासन ने ये रिपोर्ट पंजाब के हेल्थ सेक्रटरी को भेज दी गई है। रिपोर्ट में जल्द से जल्द नवाज शरीफ को किसी बड़े अस्पताल में शिफ्ट किए जाने की बात कही गई है।

बता दें कि मनी लॉन्ड्रिंग के केस में शरीफ को 10 साल और उनकी बेटी मरियम को 7 साल की सजा हुई है। इसके अलावा मरियम के पति कैप्टन (रिटायर्ड) सफदर को भी एक साल की सजा हुई है। पाकिस्तानी ट्राइब्यूनल कोर्ट ने पिछले शुक्रवार को शरीफ और उनकी बेटी मरियम को दोषी पाया और कैद की सजा सुनाई।

रावलपिंडी। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की रावलपिंडी जेल में आज अचानत तबियत ​बिगड़ गई। जेल डाक्टरों ने उनकी किडनी फेल होने का खतरा बताया है। जिसके बाद मेडिकल बोर्ड ने उन्हे जेल से अस्पताल में शिफ्ट करने को कहा। बताया जा रहा है कि शरीफ के खून में यूरिया की मात्रा खतरे के स्तर तक बढ़ गई है, उनके दिल की धड़कनें अनियमित हैं और वह डिहाइड्रेशन से पीड़ित हैं। बताया जा रहा है कि जेल में मौजूद हॉस्पिटल में ऐसी सुविधाएं मौजूद नहीं हैं जिसके जरिए शरीफ को नसों के जरिए फ्लूइड चढ़ाया जा सके। इसलिए उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती किए जाने की जरूरत है। डाक्टरों ने के मुताबिक अगर ऐसा नही किया गया तो उनकी तबियत और भी ज्यादा बिगड़ सकती है। इस मामले पर पाकिस्तान की अंतरिम सरकार जल्द फैसला ले सकती है। रावलपिंडी इंस्टिट्यूट ऑफ कार्डियॉलजी के चीफ एक्जिक्यूटिव मेजर जनरल (रिटायर्ड) डॉक्टर अजहर महमूद कयानी के नेतृत्व में डॉक्टरों की एक टीम ने जेल में जाकर शरीफ का मेडिकल चेकअप किया और एक डीटेल्ड रिपोर्ट तैयार की है। जिसके बाद जेल प्रशासन ने ये रिपोर्ट पंजाब के हेल्थ सेक्रटरी को भेज दी गई है। रिपोर्ट में जल्द से जल्द नवाज शरीफ को किसी बड़े अस्पताल में शिफ्ट किए जाने की बात कही गई है। बता दें कि मनी लॉन्ड्रिंग के केस में शरीफ को 10 साल और उनकी बेटी मरियम को 7 साल की सजा हुई है। इसके अलावा मरियम के पति कैप्टन (रिटायर्ड) सफदर को भी एक साल की सजा हुई है। पाकिस्तानी ट्राइब्यूनल कोर्ट ने पिछले शुक्रवार को शरीफ और उनकी बेटी मरियम को दोषी पाया और कैद की सजा सुनाई।