शरीफ के दामाद को मरियम नवाज के साथ मिली जमानत

नई दिल्ली। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के दामाद को राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो(एनएबी) ने गिरफ्तार कर लिया। हालांकि बाद में पत्नी मरियम नवाज के साथ उन्हें जमानत मिल गई। लंदन में शरीफ परिवार के स्वामित्व वाली संपत्तियों से संबंधित मामले में सोमवार को लंदन से पाकिस्तान पहुंचते ही मरियम के पति कैप्टन मुहम्मद सफदर (सेवानिवृत्त) को गिरफ्तार कर लिया गया, हालांकि बाद में उन्हें एक जवाबदेही अदालत ने जमानत दे दी।

अदालत में पेश होने के बाद मीडियाकर्मियों से बातचीत में मरियम ने कहा कि पहले से ही सजा मिलने के बावजूद उनके परिवार पर मामला चलाया जा रहा है। मरियम ने कहा, ये सुनवाइयां फैसले के दिन तक चलेंगी, जब तक कि कुछ उभरकर सामने नहीं आता, जिसमें वह (नवाज शरीफ) या उनके परिवार का कोई सदस्य पकड़ा जाए।

{ यह भी पढ़ें:- पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने निलंबित किए 260 निर्वाचित जनप्रतिनिधि }

मरियम ने कहा कि संयुक्त जांच टीम द्वारा उनके पारिवारिक व्यवसाय के संबंध में जो सवाल उठाए गए हैं, वे हमेशा सवाल ही बने रहेंगे क्योंकि ये झूठे आरोप हैं, जिनका कोई जवाब नहीं है। यह पूछे जाने पर कि उनके भाई हसन और हुसैन नवाज अदालत में कब पेश होंगे? उन्होंने कहा कि वे अपना फैसला खुद लेंगे और वे विदेश में रहते हैं, इसलिए पाकिस्तान का कानून उन पर लागू नहीं होता।

सर्वोच्च अदालत की पांच सदस्यीय पीठ ने 28 जुलाई को एनएबी को नवाज शरीफ और उनके बच्चों के खिलाफ छह सप्ताह के भीतर जवाबदेही अदालत में मामला दाखिल करने का आदेश दिया था और निचली अदालत को मामले पर छह महीने के भीतर फैसला लेने का निर्देश दिया था।

{ यह भी पढ़ें:- जवाबदेही अदालत के समक्ष पेश हुईं शरीफ की बेटी मरियम }