NCRB रिपोर्ट- UP बिहार अपराधों में रहे नम्बर 1, सरकारों का अपराधियों में खौफ का दावा फेल

crime
NCRB रिपोर्ट— यूपी, बिहार अपराधों में रहे नम्बर 1, सरकारों का अपराधियों में खौफ का दावा फेल

नई दिल्ली। राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) ने 2017 में देश भर में हुए अपराधों का आंकड़ा पेश किया है, आंकड़ो के मुताबिक 2017 में पूरे देश में लगभग 50 लाख से ज्यादा मामले दर्ज किए गए। आपको बता दें कि 2016 के आंकड़ो में देश में सिर्फ 48 लाख मामले ही दर्ज हुए थे तो इस तरह से अपराधों में 3.6 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। वहीं यूपी बिहार में 2016 की अपेछा 2017 में हत्या, लूट और रेप के ज्यादा मामले दर्ज हुए हैं। तो इस तरह से साफ कहा जा सकता है बिहार की नितीश सरकार व यूपी की योगी सरकार का अपराधियों में खौफ का दावा फेल होता हुआ नजर आ रहा है।

Ncrb Report Up Bihar Number 1 In Crimes Governments Claim Failed No Fear Among Criminals :

इस बार एनसीआरबी ने 2017 के वार्षिक अपराध के आंकड़े काफी देर से पेश किये हें। पूरे देश की बात करें तो 2017 में हत्या के मामलों में 2016 से 5.9 प्रतिशत की गिरावट आई। 2017 में हत्या के 28653 मामले दर्ज किए गए जबकि 2016 में 30450 मामले दर्ज हुए थे। अगर बात अपहरण के मामलो की करते हैं तो विवाद, निजी रंजिश, दुश्मनी और फायदे के चलते 2016 की अपेछा 2017 मेंं 9 प्रतिशत ज्यादा मामले दर्ज हुए हैं। हत्या में भी झगड़े सबसे मुख्य वजह रही। आपको बता दें कि 2016 में देश भर में अपहरण के 88008 मामले दर्ज किए गए थे जबकि 2017 में 95893 मामले दर्ज किए गए ।

अब आते हैं महिलाओ के खिलाफ हो रहे अपराध के मामलो में तो 2015, 2016 की अपेछा लगातार तीसरे साल देश में महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराधो में इजाफा हुआ है। 2017 में महिलाओं के खिलाफ अपराध के 3,59,849 मामले दर्ज किए गए जबकि 2015 में महिलाओं के खिलाफ अपराध के 3,29,243 मामले दर्ज किए गए थे और 2016 में 3,38,954 मामले दर्ज हुए थे।

यूपी-बिहार में बढ़ा अपराध

पूरे देश के आंकड़ो की बात करें तो सबसे 2017 में सबसे ज्यादा हत्याएं यूपी और बिहार में हुई हैं। यूपी में इस दौरान कुल 4,324 मर्डर केस दर्ज हुए, वहीं बिहार में 2017 में 2803 मर्डर केस दर्ज किए गए हैं। हालांकि यूपी में 2016 की अपेछा 2017 में कम हत्याएं हुई हैं लेकिन बिहार में 2016 की अपेछा 2017 में ज्यादा हत्याओं के मामले दर्ज किये गये हैं। साल 2016 में यूपी में हत्या के कुल 4889 मामले दर्ज हुए थे जबकि बिहार में 2016 में हत्या के कुल 2581 मामले सामने आए थे। जबकि पूरे देश में महिलाओं के खिलाफ अपराध के सबसे ज्यादा मामले उत्तर प्रदेश में दर्ज किये गयें, यूपी में कुल 56,011 मामले दर्ज हुए हैं। महिलाओं के मामले में महाराष्र्ट दूसरे नम्बर पर है।

नई दिल्ली। राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) ने 2017 में देश भर में हुए अपराधों का आंकड़ा पेश किया है, आंकड़ो के मुताबिक 2017 में पूरे देश में लगभग 50 लाख से ज्यादा मामले दर्ज किए गए। आपको बता दें कि 2016 के आंकड़ो में देश में सिर्फ 48 लाख मामले ही दर्ज हुए थे तो इस तरह से अपराधों में 3.6 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। वहीं यूपी बिहार में 2016 की अपेछा 2017 में हत्या, लूट और रेप के ज्यादा मामले दर्ज हुए हैं। तो इस तरह से साफ कहा जा सकता है बिहार की नितीश सरकार व यूपी की योगी सरकार का अपराधियों में खौफ का दावा फेल होता हुआ नजर आ रहा है। इस बार एनसीआरबी ने 2017 के वार्षिक अपराध के आंकड़े काफी देर से पेश किये हें। पूरे देश की बात करें तो 2017 में हत्या के मामलों में 2016 से 5.9 प्रतिशत की गिरावट आई। 2017 में हत्या के 28653 मामले दर्ज किए गए जबकि 2016 में 30450 मामले दर्ज हुए थे। अगर बात अपहरण के मामलो की करते हैं तो विवाद, निजी रंजिश, दुश्मनी और फायदे के चलते 2016 की अपेछा 2017 मेंं 9 प्रतिशत ज्यादा मामले दर्ज हुए हैं। हत्या में भी झगड़े सबसे मुख्य वजह रही। आपको बता दें कि 2016 में देश भर में अपहरण के 88008 मामले दर्ज किए गए थे जबकि 2017 में 95893 मामले दर्ज किए गए । अब आते हैं महिलाओ के खिलाफ हो रहे अपराध के मामलो में तो 2015, 2016 की अपेछा लगातार तीसरे साल देश में महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराधो में इजाफा हुआ है। 2017 में महिलाओं के खिलाफ अपराध के 3,59,849 मामले दर्ज किए गए जबकि 2015 में महिलाओं के खिलाफ अपराध के 3,29,243 मामले दर्ज किए गए थे और 2016 में 3,38,954 मामले दर्ज हुए थे। यूपी-बिहार में बढ़ा अपराध पूरे देश के आंकड़ो की बात करें तो सबसे 2017 में सबसे ज्यादा हत्याएं यूपी और बिहार में हुई हैं। यूपी में इस दौरान कुल 4,324 मर्डर केस दर्ज हुए, वहीं बिहार में 2017 में 2803 मर्डर केस दर्ज किए गए हैं। हालांकि यूपी में 2016 की अपेछा 2017 में कम हत्याएं हुई हैं लेकिन बिहार में 2016 की अपेछा 2017 में ज्यादा हत्याओं के मामले दर्ज किये गये हैं। साल 2016 में यूपी में हत्या के कुल 4889 मामले दर्ज हुए थे जबकि बिहार में 2016 में हत्या के कुल 2581 मामले सामने आए थे। जबकि पूरे देश में महिलाओं के खिलाफ अपराध के सबसे ज्यादा मामले उत्तर प्रदेश में दर्ज किये गयें, यूपी में कुल 56,011 मामले दर्ज हुए हैं। महिलाओं के मामले में महाराष्र्ट दूसरे नम्बर पर है।