राजग व महागठबंधन आरक्षण विरोधी: मायावती  

भभुआ। उत्तर प्रदेश की पूर्व सत्तारूढ़ बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने एक बार फिर आरक्षण के मुद्दे पर केंद्र की सत्ताधारी नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार को आड़े हाथों लिया है। उन्होने राजग सरकार पर आरक्षण को समाप्त करने की मंशा रहने का आरोप लगाया है। उन्होने यह आरोप बीते रविवार को बिहार में विधानसभा चुनाव के बसपा उम्मीदवार के पक्ष में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए लगाया।

Nda Grand Alliance Against Reservation Mayawati :

मायावती ने आरोप लगाया कि राजग सरकार आरक्षण को समाप्त करना चाहती है। यह आरोप उन्होने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के आरक्षण मुद्दे पर पुनर्विचार के बयान को परिपेक्ष्य में लगाया। उन्होंने कहा कि राजग सरकार जहां आरक्षण व्यवस्था को समाप्त करना चाहती है वहीं बसपा इसे निजी क्षेत्रों में भी लागू किए जाने की पक्षधर है।

अपने वक्तव्य में माया ने राजग और महागठबंधन को दलित और कमजोर तबका विरोधी बताया और जनता से बसपा के पक्ष में वोट देने की अपील की। उन्होने कहा कि जनता बसपा पक्ष के उम्मीदवारों को विधानसभा तक पहुंचाए ताकि सत्ता पक्ष द्वारा कमजोर तबके के खिलाफ कोई कदम उठाए जाने पर बिहार विधानसभा में वे उनकी आवाज बुलंद कर सकें।

आपको बता दें कि रविवार को माया रामगढ़ से बसपा प्रत्याशी प्रमोद सिंह पप्पू और चैनपुर विधानसभा क्षेत्र से पार्टी उम्मीदवार जमा खां के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित कर रही थी।

भभुआ। उत्तर प्रदेश की पूर्व सत्तारूढ़ बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने एक बार फिर आरक्षण के मुद्दे पर केंद्र की सत्ताधारी नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार को आड़े हाथों लिया है। उन्होने राजग सरकार पर आरक्षण को समाप्त करने की मंशा रहने का आरोप लगाया है। उन्होने यह आरोप बीते रविवार को बिहार में विधानसभा चुनाव के बसपा उम्मीदवार के पक्ष में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए लगाया।

मायावती ने आरोप लगाया कि राजग सरकार आरक्षण को समाप्त करना चाहती है। यह आरोप उन्होने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के आरक्षण मुद्दे पर पुनर्विचार के बयान को परिपेक्ष्य में लगाया। उन्होंने कहा कि राजग सरकार जहां आरक्षण व्यवस्था को समाप्त करना चाहती है वहीं बसपा इसे निजी क्षेत्रों में भी लागू किए जाने की पक्षधर है।

अपने वक्तव्य में माया ने राजग और महागठबंधन को दलित और कमजोर तबका विरोधी बताया और जनता से बसपा के पक्ष में वोट देने की अपील की। उन्होने कहा कि जनता बसपा पक्ष के उम्मीदवारों को विधानसभा तक पहुंचाए ताकि सत्ता पक्ष द्वारा कमजोर तबके के खिलाफ कोई कदम उठाए जाने पर बिहार विधानसभा में वे उनकी आवाज बुलंद कर सकें।

आपको बता दें कि रविवार को माया रामगढ़ से बसपा प्रत्याशी प्रमोद सिंह पप्पू और चैनपुर विधानसभा क्षेत्र से पार्टी उम्मीदवार जमा खां के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित कर रही थी।