सावन मे घर दूर रखनी हैं नकारात्मकता, अपनाए ये 3 उपाए वास्तु दोष भी होंगे दूर

shiva-1594536713-lb

श्रवण मास का महीना हर हिन्दू के लिए बहुत खास होता हैं ऐसा माना जाता है शिव हर भक्त के मन मे उसके जीवन मे सकारात्मकता लाने का काम करता हैं।

Negativity Has To Be Kept Away From Home In The Spring :

इतना ही नहीं बल्कि घर में उपस्थित नकारात्मकता व्यक्ति के जीवन में समस्याओं के कारण को भी खत्म कर देते हैं।

ऐसे में सावन का यह महीना वास्तुदोष दूर कर जीवन की परेशानियों का अंत करता हैं। इसके दुष्प्रभाव से आर्थिक और मानसिक समस्याएं भी उत्पन्न होती हैं।

आज इस कड़ी में हम आपके लिए घर की नकारात्मकता को दूर करने के लिए वास्तु उपायों की जानकारी लेकर आए हैं। तो आइये जानते हैं इसके बारे में।

शिव पूजा से वास्तुदोष निवारण

भगवान शिव ऐसे देव हैं जिनकी पूजा-आराधना से वास्तुदोषों का शमन होता है। जिन भवनों में वास्तुदोष हो वहां सुख-शांति के लिए शिवलिंग पर अभिषेक करने के उपरान्त जलहरी के जल को घर लाकर उससे ‘ॐ नमः शिवाय करालं महाकाल कालं कृपालं ॐ नमः शिवाय ‘ ये मंत्र जपते हुए पूरे भवन में छिड़काव करना चाहिए।

ऐसा करने से वहां उपस्थित सभी नकारात्मक शक्तियां दूर हो जाती हैं। कार्य में विघ्न-बाधा,आपसी कलह, रोग आदि परेशानियों को दूर करने के लिए घर के उत्तर-पूर्व (ईशान)या ब्रह्म स्थान में रुद्राभिषेक करना शुभ परिणाम देगा।

गुग्गूल की धूनी

घर में सुख-समृद्धि के वास एवं नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने के लिए शाम के समय घर में आप गुग्गूल या लोबान की धूप जलाकर ॐ नमः शिवाय या कोई भी मंत्र का जप करते हुये उसे पूरे घर में घुमाएं, ये भी बुरी शक्तियों को घर से बाहर करने का उत्तम उपाय है।

गंगा जल का छिड़काव

यदि सोमवार की शिव पूजा में आप शिवलिंग पर गंगा जल से अभिषेक करेंगे तो भोलेनाथ जल्द ही प्रसन्न होंगे और जीवन से सभी विकार नष्ट हो जाएंगे। यदि घर में वास्तुदोष है और आप उससे परेशान रहते हों तो अपने घर में नियमित गंगाजल का छिड़काव करें।

ऐसा नियमित करने से वास्तु दोष का प्रभाव खत्म हो जाता है और घर पर सकारात्मक ऊर्जा आती है। पारिवारिक सदस्यों में क्लेश रहता है तो प्रतिदिन सुबह सारे घर में गंगा जल का छिड़काव करें। इस उपाय से घर की नकारात्मकता का नाश होता है और सकारात्मकता का माहौल बनता है।

 

श्रवण मास का महीना हर हिन्दू के लिए बहुत खास होता हैं ऐसा माना जाता है शिव हर भक्त के मन मे उसके जीवन मे सकारात्मकता लाने का काम करता हैं। इतना ही नहीं बल्कि घर में उपस्थित नकारात्मकता व्यक्ति के जीवन में समस्याओं के कारण को भी खत्म कर देते हैं। ऐसे में सावन का यह महीना वास्तुदोष दूर कर जीवन की परेशानियों का अंत करता हैं। इसके दुष्प्रभाव से आर्थिक और मानसिक समस्याएं भी उत्पन्न होती हैं। आज इस कड़ी में हम आपके लिए घर की नकारात्मकता को दूर करने के लिए वास्तु उपायों की जानकारी लेकर आए हैं। तो आइये जानते हैं इसके बारे में।

शिव पूजा से वास्तुदोष निवारण

भगवान शिव ऐसे देव हैं जिनकी पूजा-आराधना से वास्तुदोषों का शमन होता है। जिन भवनों में वास्तुदोष हो वहां सुख-शांति के लिए शिवलिंग पर अभिषेक करने के उपरान्त जलहरी के जल को घर लाकर उससे 'ॐ नमः शिवाय करालं महाकाल कालं कृपालं ॐ नमः शिवाय ' ये मंत्र जपते हुए पूरे भवन में छिड़काव करना चाहिए। ऐसा करने से वहां उपस्थित सभी नकारात्मक शक्तियां दूर हो जाती हैं। कार्य में विघ्न-बाधा,आपसी कलह, रोग आदि परेशानियों को दूर करने के लिए घर के उत्तर-पूर्व (ईशान)या ब्रह्म स्थान में रुद्राभिषेक करना शुभ परिणाम देगा।

गुग्गूल की धूनी

घर में सुख-समृद्धि के वास एवं नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने के लिए शाम के समय घर में आप गुग्गूल या लोबान की धूप जलाकर ॐ नमः शिवाय या कोई भी मंत्र का जप करते हुये उसे पूरे घर में घुमाएं, ये भी बुरी शक्तियों को घर से बाहर करने का उत्तम उपाय है।

गंगा जल का छिड़काव

यदि सोमवार की शिव पूजा में आप शिवलिंग पर गंगा जल से अभिषेक करेंगे तो भोलेनाथ जल्द ही प्रसन्न होंगे और जीवन से सभी विकार नष्ट हो जाएंगे। यदि घर में वास्तुदोष है और आप उससे परेशान रहते हों तो अपने घर में नियमित गंगाजल का छिड़काव करें। ऐसा नियमित करने से वास्तु दोष का प्रभाव खत्म हो जाता है और घर पर सकारात्मक ऊर्जा आती है। पारिवारिक सदस्यों में क्लेश रहता है तो प्रतिदिन सुबह सारे घर में गंगा जल का छिड़काव करें। इस उपाय से घर की नकारात्मकता का नाश होता है और सकारात्मकता का माहौल बनता है।