1. हिन्दी समाचार
  2. लापरवाही: दो माह से ज्यादा समय तक शासन में घूमती रही IPS वैभव कृष्ण की चिट्ठी

लापरवाही: दो माह से ज्यादा समय तक शासन में घूमती रही IPS वैभव कृष्ण की चिट्ठी

By बलराम सिंह 
Updated Date

Negligence Ips Vaibhav Krishnas Letter Circulated In Governance For More Than Two Months

लखनऊ। गौतमबुद्धनगर के एसएसपी वैभव कृष्ण द्वारा पांच आईपीएस अफसरों को कटघरे में खड़ा करने वाली गोपनीय चिट्ठी दो महीने से अधिक समय तक शासन के अनुभागों में इधर से उधर घूमती रही। गृह विभाग और पुलिस के आला अधिकारियों ने पत्र का संज्ञान लेना तो दूर, मुख्यंमत्री कार्यालय से दिए गए निर्देशों को भी नजरंदाज कर दिया। अब आईपीएस वैभव कृष्ण के खुलासे के बाद हड़कंप मचा हुआ है। सोशल मीडिया में वैभव कृष्ण का पत्र और उनसे संबंधित वीडियो वायरल होने का खेल सामने आने के बाद इस बात की पड़ताल हो रही है कि आखिर इतने गंभीर मामले में कार्रवाई लापरवाही क्यों बरती गई।

पढ़ें :- अखिलेश यादव ने कराया कोरोना टेस्ट, सीएम योगी पर कसा ये तंज

दरअसल एसएसपी वैभव कृष्ण ने पुलिस महानिदेशक व अपर मुख्य सचिव गृह को एक ही पत्र अलग-अलग संबोधित करके लिखा था। डीजीपी को लिखे गए पत्र की प्रतिलिपि अपर मुख्य सचिव गृह और अपर मुख्य सचिव गृह को लिखे गए पत्र की प्रतिलिपि डीजीपी को भेजी गई थी। वैभव कृष्ण ने यह पत्र एक को संबोधित व दूसरे को सूचनार्थ लिखा था। इन दोनों ही पत्रों की प्रतिलिपि प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री को मुख्यमंत्री के समक्ष रखने के लिए भेजी गई थी।

बताया जा रहा है कि वैभव कृष्ण का बिना तिथि का पत्र मुख्यमंत्री कार्यालय को अक्तूबर में मिला था। सीएम सचिवालय ने पत्र को उसी समय मुख्यमंत्री के समक्ष रखा था। मुख्यमंत्री के निर्देश पर इन पत्रों को 25 अक्तूबर 2019 को ही कार्रवाई के लिए गृह व पुलिस विभाग को भेज दिया गया था। बावजूद इसके पुलिस व गृह विभाग के अफसरों ने न सिर्फ वैभव के पत्र की अनदेखी कर दी बल्कि मुख्यमंत्री के निर्देश को भी नजरंदाज किया। जिस कारण अब सोशल मीडिया में पत्र और वीडियो वायरल होने के खेल से सरकार की जमकर किरकिरी हो रही है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...