नेपाल पुलिस को खाकी वर्दी से परेशानी, रोका प्रवेश

सोनौली: भारत नेपाल सीमा सोनौली बॉर्डर पर चुनाव सम्पन्न कराने आए पुलिस कर्मी उस समय असहज दिखे जब नेपाल घूमने और खरीदारी करने जाने के दौरान नेपाल के बेलहिया चौकी पुलिस ने उन्हें रोक दिया। और कहा कि खाकी वर्दी में आप लोग नेपाल नही जा सकते जिससे सभी पुलिस कर्मी हैरत में पड़ गए और वापस आ गए।




बुधवार की सुबह 10 बजे के लगभग में सीमावर्ती क्षेत्र के नौतनवा विधान सभा क्षेत्र की सीट पर 4 मार्च को चुनाव सम्पन्न कराने बिभिन्न जिले से आए पुलिस कर्मियो को नेपाल जाने की लालसा सोनौली बॉर्डर पर ले आयी और खाकी वर्दी से लैस लगभग पचासों पुलिस कर्मी नेपाल घूमने के लिए चल पड़े जैसे ही नेपाल गेट के शांति द्वार पर पहुचे की नेपाल चौकी पर तैनात सिपाही ने उन्हें रोक दिया और खाकी वर्दी से परेशानी की बात कह सादे ड्रेस में जाने को कहा जिस पर पुलिस कर्मी भड़क गए और शान्ति द्वार से ही वापस सोनौली चौकी पर आ गए। काफी देर के बाद नेपाल बेलहिया चौकी पर तैनात एक सब इंस्पेक्टर सभी भारतीय पुलिस कर्मियो को अपने साथ लेकर नेपाल के सरहदी बाजारों में खरीदारी कराया।




इस सम्बन्ध में बेलहिया पुलिस इंस्पेक्टर रविन्द्र बिस्ट से पूछने पर उन्होंने कोई जबाब नही दिया। आप को बता दें कि करीब पाच महीने पूर्व बिहार बॉर्डर के रास्ते आठ पुलिस कर्मी नेपाल घूमने गए थे जो अपने साथ सरकारी गाडी और बंदूक भी लेकर नेपाल चले गए थे जिन्हें नेपाल पुलिस ने हिरासत में ले लिया था और उच्चाधिकारियों के निर्देश पर सभी को सरहद पर लेकर छोड़ दिया था।

लेकिन यह पहला मामला है कि नेपाल को अब खाकी से भी परेशानी हो रही है जबकि नेपाल भारत आने जाने के लिए असलहे ले जाने पर पाबन्दी है। इस खबर के बाद सरहद के दोनों तरफ के व्यापारियो में रोष है।

महराजगंज से विजय चौरसिया की रिपोर्ट

Loading...