नेपाली पीएम ओली : भारत यात्रा के दौरान राष्ट्रीय गौरव के खिलाफ कोई समझौता नहीं

kp-oli-reuters_650x400_71513305814

नेपाली प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने मंगलवार को कहा कि वह भारत के साथ ऐसे किसी समझौते पर दस्तखत नहीं करेंगे जिससे नेपाल के गौरव और प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचे. ओली ने अपनी आगामी भारत यात्रा के बारे में संसद को जानकारी देते हुए सांसदों को आश्वस्त किया, ‘मैं ऐसा कोई समझौता नहीं करूंगा जो नेपाल के राष्ट्रीय हित के खिलाफ हो.’

Nepal Pm Oli Says He Would Not Sign Any Deal Against National Pride During India Visit :

ओली छह से आठ अप्रैल तक भारत यात्रा पर रहेंगे और उनके साथ 53 सदस्यीय बड़ा प्रतिनिधिमंडल होगा. उनके साथ उनकी पत्नी राधिका शाक्य के अतिरिक्त विदेश मंत्री प्रदीप ज्ञावली, उद्योग मंत्री मातृका यादव, तथा भौतिक योजना एवं अवसंरचना मंत्री रघुबीर महासेठ होंगे.

उन्होंने कहा कि उनकी यात्रा का फोकस मुख्यत: कोई नया समझौता करने की जगह भारत और नेपाल के बीच हुए पुराने समझौतों को क्रियान्वित करने पर होगा.

ओली ने कहा, ‘मैं राष्ट्र हित के खिलाफ कोई समझौता नहीं करूंगा.’ उन्होंने कहा, ‘हम किसी भी ऐसी चीज से बचते हुए जो देश के लिए अपमानजनक हो, भारत के साथ विश्वसनीय ( संबंध) कायम रखना चाहते हैं.’

नेपाल कैबिनेट ने आज ओली की भारत यात्रा को अनुमोदित कर दिया. ओली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आमंत्रण पर भारत यात्रा कर रहे हैं. ओली के फरवरी में कार्यभार संभालने के बाद यह उनकी पहली विदेश यात्रा है. अपनी तीन दिवसीय यात्रा के दौरान ओली राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द, अपने समकक्ष मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मिलेंगे.

नेपाली प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने मंगलवार को कहा कि वह भारत के साथ ऐसे किसी समझौते पर दस्तखत नहीं करेंगे जिससे नेपाल के गौरव और प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचे. ओली ने अपनी आगामी भारत यात्रा के बारे में संसद को जानकारी देते हुए सांसदों को आश्वस्त किया, ‘मैं ऐसा कोई समझौता नहीं करूंगा जो नेपाल के राष्ट्रीय हित के खिलाफ हो.’ओली छह से आठ अप्रैल तक भारत यात्रा पर रहेंगे और उनके साथ 53 सदस्यीय बड़ा प्रतिनिधिमंडल होगा. उनके साथ उनकी पत्नी राधिका शाक्य के अतिरिक्त विदेश मंत्री प्रदीप ज्ञावली, उद्योग मंत्री मातृका यादव, तथा भौतिक योजना एवं अवसंरचना मंत्री रघुबीर महासेठ होंगे.उन्होंने कहा कि उनकी यात्रा का फोकस मुख्यत: कोई नया समझौता करने की जगह भारत और नेपाल के बीच हुए पुराने समझौतों को क्रियान्वित करने पर होगा.ओली ने कहा, ‘मैं राष्ट्र हित के खिलाफ कोई समझौता नहीं करूंगा.’ उन्होंने कहा, ‘हम किसी भी ऐसी चीज से बचते हुए जो देश के लिए अपमानजनक हो, भारत के साथ विश्वसनीय ( संबंध) कायम रखना चाहते हैं.’नेपाल कैबिनेट ने आज ओली की भारत यात्रा को अनुमोदित कर दिया. ओली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आमंत्रण पर भारत यात्रा कर रहे हैं. ओली के फरवरी में कार्यभार संभालने के बाद यह उनकी पहली विदेश यात्रा है. अपनी तीन दिवसीय यात्रा के दौरान ओली राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द, अपने समकक्ष मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मिलेंगे.