नेपाल: ओली से छिन सकती है प्रधानमंत्री की कुर्सी, कम्युनिस्ट पार्टी की बैठक टली, आज होना था फैसला

pm nepal
नेपाल: ओली से छिन सकती है प्रधानमंत्री की कुर्सी, कम्युनिस्ट पार्टी की बैठक टली, आज होना था फैसला

काठमांडू। नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की कुर्सी जल्द छीन सकती है। आज होने वाली नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी की अहम स्थायी समिति की बैठक टल गई है। इस बैठक में ओली के भाग्य पर फैसला होना था। पीएम ओली के मीडिया सलाहकार सूर्य थापा ने कहा कि बैठक सोमवार तक के लिए टल गई है क्योंकि नेपाला कम्युनिस्ट पार्टी के नेताओं को और अधिक समय चाहिए।

Nepal Prime Ministers Chair May Be Snatched From Oli Communist Party Meeting Postponed Decision To Be Held Today :

बता दें कि, नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली को भारत का विरोध करना महंगा पड़ रहा है। इसके चलते उनके साथ से पीएम की कुर्सी भी जा सकती है। सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (एनसीपी) की स्थाई समिति के 40 में से 33 नेता ओली के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पीएम ओली नाराज नेताओं को मनाने की कोशिश में जुटे हैं।

इसके लिए वह उनके घर भी जा रहे हैं। वहीं, इस बीच खबर है कि ​मुख्य विरोधी पुष्प कमल दहल प्रचंड से उन्होंने अपने घर पर तीन घंटे की मुलाकात की थी। एनसीपी की दूसरी विंग के नेताओं से भी प्रचंड ने बातचीत की। कोविड-19 पर काबू पाने के मामले में ओली पहले ही निशाने पर थे। भारत और चीन के विवाद में जब उन्होंने भारत पर सरकार गिराने की साजिश रचने के आरोप लगाए तो मामला ज्यादा बिगड़ गया।

अब उनके इस्तीफे की मांग तेज हो गई है। काठमांडू पोस्ट अखबार के मुताबिक, ओली ने बड़े नेताओं से मुलाकात की और सहयोग मांगा। इनमें से कुछ नेताओं के तो वे ऑफिस या घर तक पहुंच गए। पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष प्रचंड से तीन घंटे अपने घर बातचीत की। एनसीपी की स्थायी समिति की बैठक में ओली के भाग्य का फैसला हो सकता है।

 

काठमांडू। नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की कुर्सी जल्द छीन सकती है। आज होने वाली नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी की अहम स्थायी समिति की बैठक टल गई है। इस बैठक में ओली के भाग्य पर फैसला होना था। पीएम ओली के मीडिया सलाहकार सूर्य थापा ने कहा कि बैठक सोमवार तक के लिए टल गई है क्योंकि नेपाला कम्युनिस्ट पार्टी के नेताओं को और अधिक समय चाहिए। बता दें कि, नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली को भारत का विरोध करना महंगा पड़ रहा है। इसके चलते उनके साथ से पीएम की कुर्सी भी जा सकती है। सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (एनसीपी) की स्थाई समिति के 40 में से 33 नेता ओली के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पीएम ओली नाराज नेताओं को मनाने की कोशिश में जुटे हैं। इसके लिए वह उनके घर भी जा रहे हैं। वहीं, इस बीच खबर है कि ​मुख्य विरोधी पुष्प कमल दहल प्रचंड से उन्होंने अपने घर पर तीन घंटे की मुलाकात की थी। एनसीपी की दूसरी विंग के नेताओं से भी प्रचंड ने बातचीत की। कोविड-19 पर काबू पाने के मामले में ओली पहले ही निशाने पर थे। भारत और चीन के विवाद में जब उन्होंने भारत पर सरकार गिराने की साजिश रचने के आरोप लगाए तो मामला ज्यादा बिगड़ गया। अब उनके इस्तीफे की मांग तेज हो गई है। काठमांडू पोस्ट अखबार के मुताबिक, ओली ने बड़े नेताओं से मुलाकात की और सहयोग मांगा। इनमें से कुछ नेताओं के तो वे ऑफिस या घर तक पहुंच गए। पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष प्रचंड से तीन घंटे अपने घर बातचीत की। एनसीपी की स्थायी समिति की बैठक में ओली के भाग्य का फैसला हो सकता है।