नेपाल का ‘जालिम मुखिया’ भारत में भेजना चाहता है कोरोना बम, SSB ने किया अलर्ट

jalim
नेपाल का 'जालिम मुखिया' भारत में भेजना चाहता है कोरोना बम, SSB ने किया अलर्ट

नई दिल्ली। भारत में लगातार कोरोना का कहर जारी है। हाल ही में जमातियों ने कोरोना वायरस को लेकर जिस तरह से लापरवाही बरती उससे पूरा देश संकट में आ गया है और देश भर में इन जमातियों की वजह से कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ गया है। वहीं एसएसबी द्वारा बिहार के चंपारण डीएम को लिखी चिट्ठी ने बिहार के साथ साथ केन्द्र सरकार के भी होश उड़ा दिये हैं। तीन अप्रैल को एसएसबी की ओर से जिलाधिकारी पश्चिम चंपारण और बेतिया के एसपी के नाम से एक गोपनीय पत्र लिखा गया था। इसके तहत नेपाल के एक शख्स जालिम मुखिया द्वारा भारत में कोरोना वायरस फैलाने की साजिश को लेकर अलर्ट जारी किया गया है।

Nepals Jaalim Chief Wants To Send Corona Bomb To India Ssb Alerts :

दरअसल, मामला तब सबके संज्ञान में आया ज​ब बिहार के पश्चिमी चंपारण के जिलाधिकारी ने जिले में तैनात एसएसबी का हवाला देते हुए पुलिस अधीक्षक को एक पत्र लिखा है। जिलाधिकारी ने इस पत्र में लिखा है कि एसएसबी से उन्हें यह सूचना प्राप्त हुई है कि नेपाल का रहने वाला जालिम मुखिया नाम का एक व्यक्ति भारत में कोविड-19 महामारी फैलाने की योजना बना रहा है.

जिलाधिकारी ने पत्र में कहा है कि जालिम मुखिया भारत और नेपाल के बीच अवैध हथियार की सप्लाई और तस्करी में भी शामिल है। पत्र में जिलाधिकारी ने कहा है कि 40 से 50 कोरोना वायरस संदिग्ध भारतीय मुसलमानों को भारत में आने की सूचना दी गई है। इसके बाद जिलाधिकारी ने पुलिस अधीक्षक को निर्देशित किया है कि वह भारत नेपाल सीमा पर ज्यादा सतर्कता बरतें और वहां किसी भी प्रकार की संदिग्ध गतिविधियों पर कड़ाई से कार्रवाई करें।

जानकारी के मुताबिक, वर्तमान में जालिम मुखिया नेपाल के पार्षद जिला स्थित सेरवा थाना अंतर्गत जगन्नाथपुर गांव का निवासी है। जिलाधिकारी ने पुलिस अधीक्षक को यह पत्र 6 अप्रैल को लिखा है। हालांकि इसके बाद भारत-नेपाल सीमा पर अधिक सतर्कता बरती जा रही है।

इस बीच SSB के लेटर पर सीमा से लगी पुलिस अलर्ट हो गयी है। सीतामढ़ी एसपी ने सभी एसएचओ को भी अलर्ट किया है और नेपाल से सटे सभी रास्तों को कटीले तार से बंद करने को लेकर आदेश जारी कर दिया है। वहीं सभी पोस्टों पर CCTV लगाने के साथ ही 24 घंटे लगातार पैट्रोलिंग करने का भी आदेश दिया गया है।

वहीं, गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ने कहा कि नेपाल के रास्ते जो बिहार की फिराक में हैं उन्हें किसी कीमत पर हम नहीं आने देंगे। हम सतर्क हैं और सीमाएं सील कर दी गई हैं। हर बिंदु की जांच हो रही है और प्रशासन अलर्ट है. गृह मंत्रालय को भी जानकारी दे दी गई है।

नई दिल्ली। भारत में लगातार कोरोना का कहर जारी है। हाल ही में जमातियों ने कोरोना वायरस को लेकर जिस तरह से लापरवाही बरती उससे पूरा देश संकट में आ गया है और देश भर में इन जमातियों की वजह से कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ गया है। वहीं एसएसबी द्वारा बिहार के चंपारण डीएम को लिखी चिट्ठी ने बिहार के साथ साथ केन्द्र सरकार के भी होश उड़ा दिये हैं। तीन अप्रैल को एसएसबी की ओर से जिलाधिकारी पश्चिम चंपारण और बेतिया के एसपी के नाम से एक गोपनीय पत्र लिखा गया था। इसके तहत नेपाल के एक शख्स जालिम मुखिया द्वारा भारत में कोरोना वायरस फैलाने की साजिश को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। दरअसल, मामला तब सबके संज्ञान में आया ज​ब बिहार के पश्चिमी चंपारण के जिलाधिकारी ने जिले में तैनात एसएसबी का हवाला देते हुए पुलिस अधीक्षक को एक पत्र लिखा है। जिलाधिकारी ने इस पत्र में लिखा है कि एसएसबी से उन्हें यह सूचना प्राप्त हुई है कि नेपाल का रहने वाला जालिम मुखिया नाम का एक व्यक्ति भारत में कोविड-19 महामारी फैलाने की योजना बना रहा है. जिलाधिकारी ने पत्र में कहा है कि जालिम मुखिया भारत और नेपाल के बीच अवैध हथियार की सप्लाई और तस्करी में भी शामिल है। पत्र में जिलाधिकारी ने कहा है कि 40 से 50 कोरोना वायरस संदिग्ध भारतीय मुसलमानों को भारत में आने की सूचना दी गई है। इसके बाद जिलाधिकारी ने पुलिस अधीक्षक को निर्देशित किया है कि वह भारत नेपाल सीमा पर ज्यादा सतर्कता बरतें और वहां किसी भी प्रकार की संदिग्ध गतिविधियों पर कड़ाई से कार्रवाई करें। जानकारी के मुताबिक, वर्तमान में जालिम मुखिया नेपाल के पार्षद जिला स्थित सेरवा थाना अंतर्गत जगन्नाथपुर गांव का निवासी है। जिलाधिकारी ने पुलिस अधीक्षक को यह पत्र 6 अप्रैल को लिखा है। हालांकि इसके बाद भारत-नेपाल सीमा पर अधिक सतर्कता बरती जा रही है। इस बीच SSB के लेटर पर सीमा से लगी पुलिस अलर्ट हो गयी है। सीतामढ़ी एसपी ने सभी एसएचओ को भी अलर्ट किया है और नेपाल से सटे सभी रास्तों को कटीले तार से बंद करने को लेकर आदेश जारी कर दिया है। वहीं सभी पोस्टों पर CCTV लगाने के साथ ही 24 घंटे लगातार पैट्रोलिंग करने का भी आदेश दिया गया है। वहीं, गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ने कहा कि नेपाल के रास्ते जो बिहार की फिराक में हैं उन्हें किसी कीमत पर हम नहीं आने देंगे। हम सतर्क हैं और सीमाएं सील कर दी गई हैं। हर बिंदु की जांच हो रही है और प्रशासन अलर्ट है. गृह मंत्रालय को भी जानकारी दे दी गई है।