नेपाल के पीएम ने भगवान राम को बताया नेपाली, भड़के आयोध्य के संत

nepaal

भारत चीन सीमा विवाद के चले कई तरह के प्रोपोगेंडा शुरू हो गए हैं, दरअसल नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली ने भगवान श्री राम को लेकर एक बड़ा बयान दे डाला। जिसके बाद आयोध्य के संत भड़क गए।

Nepals Prime Minister Told Lord Ram :

आपको बता दें, केपी शर्मा का कहना है कि, भारत मे अयोध्या नहीं है बल्कि असली अयोध्या भारत में नहीं, नेपाल के बीरगंज में है। इतना ही नहीं बल्कि उन्होने भारत की सांस्कृतिक पर दमन का आरोप भी लगा डाला, और कहा विज्ञान के लिए नेपाल के योगदान को हमेशा नजरंदाज किया गया।

भड़के संत 

नेपाल के पीएम के बयान के बाद राम दल ट्रस्ट के अध्यक्ष रामदास महाराज ने कहा है कि आज से नेपाल में उनके शिष्य ओली के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए सड़कों पर उतरेंगे. वेद और पुराण में वर्णन का जिक्र करते हुए रामदास महाराज ने कहा कि नेपाल में सरयू है ही नहीं.

उन्होने यह भी कहा कि मेरे लाखों शिष्य नेपाल में रहते हैं और कल से लाखों की संख्या में भक्त सड़क पर उतरकर विरोध करेंगे.

धर्मादेश किया जारी

नेपाली पीएम केपी शर्मा ओली को एक महीने के अंदर कुर्सी से उतरना पड़ेगा. यह धर्मादेश मैं जारी करता हूं. मेरे शिष्य सड़क पर उतरकर प्रदर्शन करें और ओली को सत्ता से बाहर करें.

इतना ही नहीं राम दल ट्रस्ट के अध्यक्ष रामदास महाराज ने कहा कि पूरे विश्व की सांस्कृति राजधानी अयोध्या है. वेद, रामायण या पुराण में देख लीजिए, उसमें साफ लिखा है कि जहां सरयू है, वहां अयोध्या है. नेपाल में तो सरयू है ही नहीं. पूरे भू-मंडल में राजा होते थे और सबका चक्रवर्ती सम्राट भारत के उत्तर प्रदेश के अयोध्या के महाराज होते थे.

भारत चीन सीमा विवाद के चले कई तरह के प्रोपोगेंडा शुरू हो गए हैं, दरअसल नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली ने भगवान श्री राम को लेकर एक बड़ा बयान दे डाला। जिसके बाद आयोध्य के संत भड़क गए। आपको बता दें, केपी शर्मा का कहना है कि, भारत मे अयोध्या नहीं है बल्कि असली अयोध्या भारत में नहीं, नेपाल के बीरगंज में है। इतना ही नहीं बल्कि उन्होने भारत की सांस्कृतिक पर दमन का आरोप भी लगा डाला, और कहा विज्ञान के लिए नेपाल के योगदान को हमेशा नजरंदाज किया गया।

भड़के संत 

नेपाल के पीएम के बयान के बाद राम दल ट्रस्ट के अध्यक्ष रामदास महाराज ने कहा है कि आज से नेपाल में उनके शिष्य ओली के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए सड़कों पर उतरेंगे. वेद और पुराण में वर्णन का जिक्र करते हुए रामदास महाराज ने कहा कि नेपाल में सरयू है ही नहीं. उन्होने यह भी कहा कि मेरे लाखों शिष्य नेपाल में रहते हैं और कल से लाखों की संख्या में भक्त सड़क पर उतरकर विरोध करेंगे.

धर्मादेश किया जारी

नेपाली पीएम केपी शर्मा ओली को एक महीने के अंदर कुर्सी से उतरना पड़ेगा. यह धर्मादेश मैं जारी करता हूं. मेरे शिष्य सड़क पर उतरकर प्रदर्शन करें और ओली को सत्ता से बाहर करें. इतना ही नहीं राम दल ट्रस्ट के अध्यक्ष रामदास महाराज ने कहा कि पूरे विश्व की सांस्कृति राजधानी अयोध्या है. वेद, रामायण या पुराण में देख लीजिए, उसमें साफ लिखा है कि जहां सरयू है, वहां अयोध्या है. नेपाल में तो सरयू है ही नहीं. पूरे भू-मंडल में राजा होते थे और सबका चक्रवर्ती सम्राट भारत के उत्तर प्रदेश के अयोध्या के महाराज होते थे.