नागपुर यूनिवर्सिटी में पढ़ाया जाएगा आएसएस का इतिहास

b

नागपुर। नागपुर यूनिवर्सिटी अब आरएसएस का इतिहास पढाएगा। दरअसल बीए द्वितीय वर्ष के लिए आरएसएस की राष्ट्र निर्माण में भूमिका यह अध्याय शामिल किया गया है। बीए द्वितीय वर्ष सेमस्टर 4 के यूनिट 3 का पहला चैप्टर आरएसएस की राष्ट्र निर्माण में भूमिका पर है।

New Chapter Of Role Of Rss In Nation Building Will Teach In Nagpur University :

नागपुर यूनिवर्सिटी ह्यूमेनिटीस विषय के पाठ्यक्रम में यह पढ़ाया जाएगा। अगर पुराने पाठ्यक्रम पर नजर डालेंगे तो सेमस्टर 4 के यूनिट 3 का पहला चैप्टर राईज एन्ड ग्रोथ ऑफ कम्यूनलिज्म यानि सांप्रदायिकता का उदय और वृद्धि यह था।

वहीं अब राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर यूनिवर्सिटी में बीए द्वितीय वर्ष के छात्रों को सांप्रदायिकता के चैप्टर के बजाय राष्ट्र निर्माण में आरएसएस की भूमिका का नया चैप्टर सिखाया जाएगा। इस मामले पर नागपुर युनिवर्सिटी के डीन प्रोफेसर प्रमोद शर्मा ने पाठ्यक्रम में कोई बदलाव से इंकार किया।

उन्होंने बताया कि पाठ्यक्रम में बदलाव का कोई प्रस्ताव नही है। वहीं जब यूनिवर्सिटी की वेबसाईट पर बीए द्वितीय वर्ष नए और पुराने पाठ्यक्रम में बदलाव मौजूद होने के बात कही तो उन्होंने कहा कि मेरे कार्यकाल में पिछले 8 महीने में पाठ्यक्रम बदलाव नही हुआ है।

पाठ्यक्रम में बदलाव मेरे कार्यकाल से पहले हुआ है। उन्होंने कहा कि पहले के डीन के कार्यकाल के बारे में मैं बात नही करुंगा तो अब यह स्पष्ट हुआ है कि आरएसएस की राष्ट्र निर्माण की भूमिका यह चैप्टर नागपुर यूनिवर्सिटी में बीए के द्वितीय वर्ष में शामिल किया गया है।

नागपुर। नागपुर यूनिवर्सिटी अब आरएसएस का इतिहास पढाएगा। दरअसल बीए द्वितीय वर्ष के लिए आरएसएस की राष्ट्र निर्माण में भूमिका यह अध्याय शामिल किया गया है। बीए द्वितीय वर्ष सेमस्टर 4 के यूनिट 3 का पहला चैप्टर आरएसएस की राष्ट्र निर्माण में भूमिका पर है। नागपुर यूनिवर्सिटी ह्यूमेनिटीस विषय के पाठ्यक्रम में यह पढ़ाया जाएगा। अगर पुराने पाठ्यक्रम पर नजर डालेंगे तो सेमस्टर 4 के यूनिट 3 का पहला चैप्टर राईज एन्ड ग्रोथ ऑफ कम्यूनलिज्म यानि सांप्रदायिकता का उदय और वृद्धि यह था। वहीं अब राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर यूनिवर्सिटी में बीए द्वितीय वर्ष के छात्रों को सांप्रदायिकता के चैप्टर के बजाय राष्ट्र निर्माण में आरएसएस की भूमिका का नया चैप्टर सिखाया जाएगा। इस मामले पर नागपुर युनिवर्सिटी के डीन प्रोफेसर प्रमोद शर्मा ने पाठ्यक्रम में कोई बदलाव से इंकार किया। उन्होंने बताया कि पाठ्यक्रम में बदलाव का कोई प्रस्ताव नही है। वहीं जब यूनिवर्सिटी की वेबसाईट पर बीए द्वितीय वर्ष नए और पुराने पाठ्यक्रम में बदलाव मौजूद होने के बात कही तो उन्होंने कहा कि मेरे कार्यकाल में पिछले 8 महीने में पाठ्यक्रम बदलाव नही हुआ है। पाठ्यक्रम में बदलाव मेरे कार्यकाल से पहले हुआ है। उन्होंने कहा कि पहले के डीन के कार्यकाल के बारे में मैं बात नही करुंगा तो अब यह स्पष्ट हुआ है कि आरएसएस की राष्ट्र निर्माण की भूमिका यह चैप्टर नागपुर यूनिवर्सिटी में बीए के द्वितीय वर्ष में शामिल किया गया है।