आतंकवाद, संप्रदायवाद और जातिवाद से मुक्त होगा नया भारत: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

IMG_4004
आतंकवाद, संप्रदायवाद और जातिवाद से मुक्त होगा नया भारत: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

New India Will Be Terrorism Communalism Casteism Free Says Pm Narendra Modi

देश की आजादी की 70वीं सालगिरह पर लालकिले की प्राचीर पर तिरंगा फहराने के बाद देश को संबोधित करते रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जन्माष्टमी की बधाई के साथ अपने भाषण की शुरूआत की। उन्होंने कहा कि देश की जनता में परिवर्तन को लेकर विश्वास आने लगा है। एक नया भारत बन रहा है। जो आतंकवाद, संप्रदायवाद और जातिवाद से मुक्त होगा। प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में गोरखपुर हादसे, जीएसटी, नोटबंदी, सर्जिकल स्ट्राइक, तीन तलाक, कश्मीर का जिक्र किसानों की समस्या और युवाओं का जिक्र किया।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कालेज के हादसे को याद करते हुए कहा कि बच्चों की मौत पर 125 करोड़ भारतीयों की संवेदनाएं दुखी परिवारों के साथ है। हम इससे उबरने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। ऐसे संकट के समय पूरी संवेदनशीलता के साथ हम कहना चाहते हैं कि कुछ भी करने में हम कमी नहीं करेंगे।

उन्होंने कहा कि हमें न्यू इंडिया का संकल्‍प लेकर आगे बढ़ना है। पांच साल के लिए ‘न्यू इंडिया’ का संकल्प लें, 2022 तक शक्तिशाली और समृद्ध ‘न्यू इंडिया’ बनाएंगे। राष्‍ट्रवाद और राष्‍ट्रभक्ति की भावना से किया गया प्रयास अच्छा परिणाम देता है। उन्होंने कहा कि वह 21वीं सदी में जन्‍मे युवाओं को आगे आने का निमंत्रण देते हुए कहा कि वे तरक्की में भागीदार बनें। आज नौजवान नौकरी लेने वाला नहीं, नौकरी देने वाला बना है। युवा की प्रतिभा को निखारने के लिए आईआईटी, एम्‍स, आईआईएम का निर्माण किया गया है।

अपने संबोधन में कश्मीर की समस्या का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि अलगाववादी अस्थिरता फैलाने के लिए नए-नए पैंतरे रचते हैं। कश्‍मीर समस्‍या का हल गोली और गाली से नहीं बल्कि गले लगाने से संभव है। उन्हें पूरी उम्मीद है कि सुरक्षाबलों के प्रयासों से भटके हुए नौजवान मुख्‍यधारा में आयेंगे।

किसानों के भविष्य की चिंता जाहिर करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि 2022 तक सरकार किसानों की आय दोगुना करने के लिए प्रतिबद्ध है। सरकार ऐसा प्रबंध करना चा​हती है जिससे देश का किसान चिंता मुक्त होकर सो सके। इस दिशा में फसल बीमा योजना को लागू कर एक कदम बढ़ाया गया है। फसल बीमा योजना से सवा करोड़ किसान जुड़ चुके हैं। किसानों के लिए हमनें 21 योजनाएं लागू कीं हैं। जल्‍दी ही इन योजनाओं का लाभ किसानों तक पहुंचने लगेगा। इस वर्ष सरकार ने 16 लाख टन दाल खरीदने का ऐतिहासिक काम किया है। किसानों के खेत तक पानी पहुंचाने का काम तेजी से किया जा रहा है।

उन्होंने तीन तलाक जैसी समस्या का जिक्र अपने भाषण में जिस तरह से किया वह सराहनीय रहा। उन्होंने कहा कि जिन महिलाओं ने तीन तलाक जैसी समस्या के लिए लड़ाई शुरू की वह उनको नमन करते हैं। उनके ही प्रयास से आज देश पीडि़त महिलाओं के साथ देश खड़ा है।

प्रधानमंत्री ने 2016 में अपनी सरकार द्वारा लिए गए नोटबंदी के फैसले का जिक्र करते हुए कहा कि भ्रष्टाचार और कालेधन को लेकर सरकार पहले दिन से एक्शन मोड में है। उनकी सरकार ने विदेशों में छुपे कालेधन को उजागर करने के लिए एसआईटी का गठन किया। तीन साल के भीतर सवा लाख करोड़ से ज्‍यादा कालाधन सामने आया है। नोटबंदी के लाभ का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि 3 लाख करोड़ से ज्‍यादा रुपया बैंकों में आया है. यह वह धन था जो अब तक सिस्टम में आता ही नहीं था। इस धन में से दो लाख करोड़ रूपया ऐसा है जो कालाधन है। जिसे सरकार ने ​संदिग्ध कैटेगरी में रखा है। 19 लाख ऐसे लोग मिले हैं जिनकी आय अाधिक है लेकिन वे आयकर के दायरे से खुद को बचा रहे थे।

जीएसटी का जिक्र कर रहे प्रधानमंत्री ने कहा कि एक जुलाई से जीएसटी लागू किया गया। इससे भाड़ा ढोने वाले ट्रकों का 30 फीसदी समय बचा है, व्‍यापार में भी लाभ हुआ हैै। यह अभी नई व्यवस्था है, जब भी कोई नई व्यवस्था लागू होती है थोड़ी बहुत समस्याएं सभी के सामने आतीं हैं। जैसे ही चीजें व्यवहारिक होंगी, समस्याएं दूर होना शुरू हो जाएंगी।

आतंकवाद के खिलाफ देश को विश्वस्त करते नजर आए प्रधानमंत्री ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक कर भारत ने दुनिया को एक कड़ा संदेश दिया है। कई देश भारत के आत्मविश्वास का लोहा मान रहे हैं। अधिकांश देश आतंकवाद के खिलाफ भारत की सोच से प्रभावित हैं और हमारे साथ खड़े हैं। वह ऐसे देशों के प्रति आभार प्रकट करते हैं।

आपको बता दें कि हम आज यानी 15 अगस्त 2017 को अपना 71वां स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं। इस अवसर पर देश भर में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से देश भर के नागरिक अपने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं और उनके त्याग और तपस्या के प्रति अपनी कृतज्ञता जाहिर कर रहे हैं।

 

देश की आजादी की 70वीं सालगिरह पर लालकिले की प्राचीर पर तिरंगा फहराने के बाद देश को संबोधित करते रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जन्माष्टमी की बधाई के साथ अपने भाषण की शुरूआत की। उन्होंने कहा कि देश की जनता में परिवर्तन को लेकर विश्वास आने लगा है। एक नया भारत बन रहा है। जो आतंकवाद, संप्रदायवाद और जातिवाद से मुक्त होगा। प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में गोरखपुर हादसे, जीएसटी, नोटबंदी, सर्जिकल स्ट्राइक, तीन तलाक, कश्मीर का जिक्र किसानों की…