शर्मनाक: निजी अस्पताल ने नहीं लिए 500 के पुराने नोट, नवजात की मौत

मुंबई। नोट बंदी के असर ने पूरे देश में हाहाकार महका रखा है, इसी बीच एक चौंकाने वाली खबर सामने आयी है। मुंबई के गोवंडी में एक निजी अस्पताल ने मानवता को शर्मसार करने वाला कारनामा कर दिया। बताया जा रहा है कि निजी अस्पताल ने एक नवजात का इलाज करने से महज इसलिए मना कर दिया क्यों कि नवजात के माता-पिता के पास 500 रुपये के पुराने नोट थे। इलाज के अभाव में नवजात की मौत हो गयी। वहीं…





मुंबई। नोट बंदी के असर ने पूरे देश में हाहाकार महका रखा है, इसी बीच एक चौंकाने वाली खबर सामने आयी है। मुंबई के गोवंडी में एक निजी अस्पताल ने मानवता को शर्मसार करने वाला कारनामा कर दिया। बताया जा रहा है कि निजी अस्पताल ने एक नवजात का इलाज करने से महज इसलिए मना कर दिया क्यों कि नवजात के माता-पिता के पास 500 रुपये के पुराने नोट थे। इलाज के अभाव में नवजात की मौत हो गयी। वहीं पूरे मामले को संज्ञान में लेते हुए महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री डॉ दीपक सावंत ने कहा कि पूरे मामले के जांच के आदेश दे दिये गए हैं, कार्रवाई की जाएगी।




नवजात शिशु के पिता जगदीश शर्मा ने नर्सिंग होम की डॉक्टर कामथ के खिलाफ शिवाजी नगर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने इलाज में लापरवाही बरतने और सरकारी आदेश की अवेहलना का मामला दर्ज किया है।




पुलिस के मुताबिक डॉ. कामथ ने शुरुआती इलाज देने के बाद उन्हें भर्ती करने से मना कर दिया। उनका कहना था कि इलाज कराने के लिए 100 के नोट जमा किए जाये, अन्यथा इलाज नही हो पाएगा। छह हजार रुपये जमा कराने के लिए उनके पास सिर्फ पांच सौ के नोट ही उपलब्ध थे। बैंक और एटीएम बंद होने की वजह से वो नोट भी नहीं बदल सके। इसके चलते नवजात की मौत हो गयी। फिलहाल पुलिस ने शिकायत दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।



Loading...