1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. नवनियुक्‍त शिक्षकों को जल्द मिले वेतन, लेटलतीफी पर होगी कार्रवाई : सीएम योगी

नवनियुक्‍त शिक्षकों को जल्द मिले वेतन, लेटलतीफी पर होगी कार्रवाई : सीएम योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने बेसिक शिक्षा विभाग के प्राथमिक व उच्‍च प्राथमिक विद्यालयों में नवनियुक्‍त शिक्षकों का वेतन भुगतान समय से किए जाने के निर्देश दिए हैं।उन्होंने कहा कि नवनियुक्‍त शिक्षकों के दस्‍तावेजों का सत्‍यापन कार्य जल्‍दी पूरा किए जाए। सत्‍यापन में देरी होने पर सम्‍बंधित अधिकारियों पर कार्रवाई किए जाने के निर्देश भी दिए हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Newly Appointed Teachers Will Soon Get Salary Late Action Will Be Taken Cm Yogi

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने बेसिक शिक्षा विभाग के प्राथमिक व उच्‍च प्राथमिक विद्यालयों में नवनियुक्‍त शिक्षकों का वेतन भुगतान समय से किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि नवनियुक्‍त शिक्षकों के दस्‍तावेजों का सत्‍यापन कार्य जल्‍दी पूरा किए जाए। सत्‍यापन में देरी होने पर सम्‍बंधित अधिकारियों पर कार्रवाई किए जाने के निर्देश भी दिए हैं।

पढ़ें :- एक्सपर्ट्स ने बताया भारत में कब आ सकती कोरोना की तीसरी लहर और क्या है तैयारी?

प्रदेश में शिक्षकों की कमी को पूरा करने के लिए योगी सरकार ने पिछले साल बेसिक शिक्षा विभाग में 69 हजार शिक्षकों की भर्ती की गई थी। इनको प्रदेश के 1.5 लाख से अधिक परिषदीय विद्यालयों में तैनाती दी गई है। दस्‍तावेजों के सत्‍यापन की वजह से शिक्षकों का वेतन निकलने में दिक्‍कत हो रही है। हालांकि बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से करीब 60 प्रतिशत नवनियुक्‍त शिक्षकों के दस्‍तावेजनों का सत्‍यपान कार्य पूरा कर उनको वेतन दिया जा रहा है। शेष शिक्षकों को वेतन दिए जाने की मांग शिक्षक संगठनों ने मुख्‍यमंत्री से की थी।

इस पर कड़ा रूख अपनाते हुए मुख्‍यमंत्री ने नवनियुक्‍त शेष शिक्षकों के दस्‍तावेजों का सत्‍यापन जल्‍द पूरा किए जाने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। उन्होने कहा कि शिक्षकों का समय पर उनके वेतन का भुगतान किया जाए। उन्‍होंने उच्‍च अधिकारियों को निर्देश दिए है कि वह जिलेवार शिक्षकों के सत्‍यापन कार्य की समीक्षा करें। जिन जिलों में सत्‍यापन कार्य धीरा चल रहा है। वहां संबंधित अधिकारी को समय पर सत्‍यापन पूरा करने के निर्देश दें। इसके बाद भी लापरवाही करने वाले अधिकारियों पर सख्‍त कार्रवाई करें। मुख्‍यमंत्री ने कोरोना काल में परिषदीय विद्यालयों में पठन-पाठन कार्य सुचारू रूप से संचालित किए जाने के निर्देश भी दिए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X