दहेज लोभियों का खौफनाक कारनामा, पीड़िता के प्राइवेट पार्ट का तीन बार हुआ ऑपरेशन

आगरा। यूपी की ताजनगरी से दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। जहां दहेज के लोभियों का घिनौना चेहरा सामने आया। दरअसल, दहेज में 2 लाख रुपये न मिलने पर ससुराल वालों ने विवाहिता को बेरहमी से मारा-पीटा। हद तो तब हो गयी जब महिला को अस्पताल पहुंचने पर डॉक्टर्स ने पीड़िता के प्राइवेट पार्ट में सिरियस इंजरी होने की बात कही। जिसके बाद पीड़िता की हालत गंभीर बताई जा रही है। डॉक्टर्स का कहना है कि पीड़िता के तीन ऑपरेशन हो चुके है अभी दो बाकी है उसके बाद ही कुछ कहा जा सकता है। पुलिस मामला दर्ज कर आरोपियों की गिरफ्तारी की बात कह रही है।


बेहोश होने तक पीटता रहा पति, देवर ने बांधे हाथ–

घटना आगरा के ताजगंज थानाक्षेत्र की है। जहां नौबस्ता की रहने वाली युवती का विवाह 23 अप्रैल 2016 को ताजगंज के कमल कुशवाहा के साथ हुआ था। पीड़िता ने अपनी आपबीती सुनाते हुये कहा कि सारी मांग पूरी होने के बाद भी ससुराल में उसे हर रोज़ 2 लाख रुपये की मांग की जाती थी। जब वो इस बात का विरोध करती थी तो उसे मारा-पीटा जाता था। बीते कुछ दिनो से ससुराल के सभी लोग उसे पैसो के लिए हर रोज़ मारने पीटने लगे। पीड़िता ने बताया की 10 जून को उसने कैसे भी कर के अपने मायके से 30 हज़ार रुपये लाकर ससुर लक्ष्मण को दिये।



रकम कम देखकर पति कमल गुस्से से आग बबूला हो गया और ससुर के साथ मिलकर पीड़िता की इतनी पिटाई कर दी की उसकी आंख पर चोट आ गयी। अगले दिन पीड़िता का मौसेरा भाई अपनी पत्नी के संग पीड़िता के ससुराल पहुच गया और अपनी बहन की हालत देख कर समझ गया की उसके साथ मारपीट हुयी है जिसके बाद वो पीड़िता को लेकर थाने पहुंच गया। थाने पहुंचने के बाद पुलिस ने पीड़िता के पति को समझाकर आगे से दोबारा ऐसा न करने की हिदायत देकर छोड़ दिया, पर आरोपी कमल ने घर जाकर पीड़िता को फिर मारा। कमल ने पीड़िता के प्राइवेट पार्ट में लकड़ी से इतना मारा कि उसके ब्लीडिंग होने लगी।


{ यह भी पढ़ें:- डीएनए फिंगर प्रिंटिंग के जनक लालजी सिंह का निधन, वाराणसी हवाईअड्डे पर पड़ा दिल का दौरा }

हो चुका है प्राइवेट पार्ट का तीन बार ऑपरेशन—

पीड़िता की मां के मुताबिक इन सब बातों का पता चलने पर वो अपनी बेटी को देखने उसके ससुराल पहुंच गयी। बेटी की ऐसी हालत देख उनकी चीख निकल गयी। पीड़िता की मां ने बताया कि वो इसी हालत मे अपनी बेटी को लेकर थाने पहुंच गयी, जहां पुलिस वालों ने पीड़िता की हालत देखकर उसे एक अस्पताल में भर्ती कराया। पीड़िता की बदहवास हालत देखकर डॉक्टरों ने तुरंत उसका ऑपरेशन किया, क्योंकि उसके प्राइेवट पार्ट से ब्लीडिंग नहीं रुक रही थी। उसके प्राइवेट पार्ट का तीन बार ऑपरेशन हो चुका है और अभी भी एक ऑपरेशन और होना है।


बाहर घूम रहा आरोपी–

मायके पक्ष की तहरीर पर ताजगंज पुलिस ने ससुराल वालों के खि‍लाफ केस दर्ज कर आरोपी पति और ससुर को गिरफ्तार करने की बात कह रही है। हालांकि, ससुर लक्ष्मण हॉस्पिटल के बाहर ही घूमता दिखा। लक्ष्मण को नामजद होने के बाद भी छोड़ने के बारे में एसओ ताजगंज इंद्रजीत सिंह से बात की तो उन्होंने बताया कि अंजली के परिजनों की तहरीर पर कमल और उसके पिता लक्ष्मण पर मुकदमा दर्ज किया गया है। कमल को गिरफ्तार कर लिया गया है। जिसके बाद अधिकारियों ने आरोपी ससुर को छोड़े जाने की बात पर जांच के आदेश दिये है।

{ यह भी पढ़ें:- केंद्र सरकार द्वारा पोषित 1000 करोड़ की अमृत योजना निरस्त, यूपी सरकार ने पैसों के अभाव में रोकी योजना }

Loading...