1. हिन्दी समाचार
  2. आरटीआई के दायरे में आएंगे सरकार से आर्थिक मदद पाने वाले एनजीओ

आरटीआई के दायरे में आएंगे सरकार से आर्थिक मदद पाने वाले एनजीओ

Ngos Seeking Financial Support From The Government Will Come Under The Purview Of Rti Supreme Court

By पर्दाफाश समूह 
Updated Date

नई दिल्ली। सरकार से आर्थिक मदद पाने वाले एनजीओ को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने अहम फैसला दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि सरकार से आर्थिक मदद पाने वाले एनजीओ को न केवल सार्वजनिक प्राधिकरण माना जाएगाए बल्कि वे सूचना के अधिकार आरटीआई के दायरे में भी आएंगे।

पढ़ें :- 21 हजार से कम सैलरी पाने वालों के लिए खुशखबरी! अप्रैल से देशभर में मिलेंगी ये सुविधाएं

सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला डीएवी कॉलेज ट्रस्ट और प्रबंधन सोसायटी से जुड़े एक मामले में सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि सरकार से प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से आर्थिक मदद पाने वाली संस्थाओं को सार्वजनिक प्राधिकरण के तौर पर देखा जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट किया है कि अगर स्कूल, कॉलेज सहित अन्य गैर सरकारी संगठनों को सरकार की तरफ से आर्थिक मदद मिलती है तो इन संस्थाओं को भी सार्वजनिक प्राधिकरण मानते हुए आरटीआई के दायरे में माना जाएगा। इन संस्थाओं को आरटीआई के तहत अपनी आर्थिक गतिविधियों की जानकारी देनी होगी।

सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि सार्वजनिक जीवन में पारदर्शिता और ईमानदारी के लिए इस व्याख्या की आवश्यकता है। सुप्रीम कोर्ट ने यह भी साफ किया है कि कोई भी निकाय जो सरकार द्वारा स्वामित्व, नियंत्रित या पर्याप्त रूप से वित्तपोषित हैं वो एक सार्वजनिक प्राधिकरण होगा।

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में कहा है कि हमें यह मानने में कोई हिचक नहीं है कि उचित सरकार द्वारा प्रदान की गई धनराशि से एक एनजीओ ने प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से वित्तपोषित किया है जो अधिनियम के प्रावधानों के लिए एक सार्वजनिक प्राधिकरण होगा।

पढ़ें :- कोरोना महामारी से जूझती दुनिया का सहारा बना भारत, 150 देशों को भेजी कोविड वैक्सीन की खेप

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...