जम्मू कश्मीर के शोपियां के कई इलाकों में एनआईए ने की छापेमारी, कार्रवाई जारी

nia
जम्मू कश्मीर के शोपियां के कई इलाकों में एनआईए ने की छापेमारी, कार्रवाई जारी

जम्मू। राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने जम्मू कश्मीर के शोपियां के कई इलाकों में छापेमारी शुरू कर दी है। एनआई ने यह कार्रवाई आतंकियों का साथ देने के मामले में पकड़े गए निलबिंत डीसीपी दविदंर सिंह मामले में की है। बता दें कि दविदंर सिंह और आतंकी इस समय रिमांड पर हैं और मामले की जांच एनआईए कर रही है। ऐसे समय एनआईए छापेमारी कर सुबूत जुटा रही है।

Nia Raids Many Areas Of Shopian In Jammu And Kashmir Action Continues :

वहीं, इससे पहले 32 जनवरी को निलंबित डीएसपी दविंदर सिंह मामले में आरोपियों को राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) कोर्ट में पेश किया गया। इस दौरान निलंबित डीएसपी दविंदर सिंह सहित कुल चार आरोपी न्यायालय के समक्ष ले जाया गया। इसके बाद निलंबित डीएसपी समेत सभी आरोपियों को 15 दिन की रिमांड पर भेज दिया गया है।

वहीं, निलंबित डीएसपी से पूछताछ के बाद एनआईए की दो टीमों ने श्रीनगर के इंदिरा नगर, नौगाम व अन्य जगहों पर छापा मारा था। सूत्रों की माने तो एनआईए ने एक स्थानीय डॉक्टर के घर में भी छापेमारी की है। इस छापेमारी में एनआईए ने कुछ अहम दस्तावेज अपने कब्जे में लिया है।

उधर, इस मामले में एक अन्य व्यक्ति इरफना मुश्ताक को गिरफ्तार किया गया। यह डीएसपी के साथ गिरफ्तार किए गए एक आतंकी का परिजन था। एनआईए की टीम ने जिस डॉक्टर के घर पर दबिश दी है बताया जा रहा है कि उसने निलंबित डीएसपी और आतंकी नवीद बाबू को पनाह दी थी।

छापेमारी के बाद एनआईए के आला अधिकारियों की एक टीम दिल्ली के लिए रवाना हो गई। जबकि पांच सदस्यीय टीम दूसरी टीम इस मामले में नए खुलासों के बाद जांच के लिए यहीं रुक गई है। बता दें कि डीएसपी की गिरफ्तारी के बाद जांच एजेसियों को उसके इंदिरा नगर स्थित घर से 10 लाख रुपये कैश, एक एके 47 राइफल और दो पिस्टल बरामद की गई थी।

जम्मू। राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने जम्मू कश्मीर के शोपियां के कई इलाकों में छापेमारी शुरू कर दी है। एनआई ने यह कार्रवाई आतंकियों का साथ देने के मामले में पकड़े गए निलबिंत डीसीपी दविदंर सिंह मामले में की है। बता दें कि दविदंर सिंह और आतंकी इस समय रिमांड पर हैं और मामले की जांच एनआईए कर रही है। ऐसे समय एनआईए छापेमारी कर सुबूत जुटा रही है। वहीं, इससे पहले 32 जनवरी को निलंबित डीएसपी दविंदर सिंह मामले में आरोपियों को राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) कोर्ट में पेश किया गया। इस दौरान निलंबित डीएसपी दविंदर सिंह सहित कुल चार आरोपी न्यायालय के समक्ष ले जाया गया। इसके बाद निलंबित डीएसपी समेत सभी आरोपियों को 15 दिन की रिमांड पर भेज दिया गया है। वहीं, निलंबित डीएसपी से पूछताछ के बाद एनआईए की दो टीमों ने श्रीनगर के इंदिरा नगर, नौगाम व अन्य जगहों पर छापा मारा था। सूत्रों की माने तो एनआईए ने एक स्थानीय डॉक्टर के घर में भी छापेमारी की है। इस छापेमारी में एनआईए ने कुछ अहम दस्तावेज अपने कब्जे में लिया है। उधर, इस मामले में एक अन्य व्यक्ति इरफना मुश्ताक को गिरफ्तार किया गया। यह डीएसपी के साथ गिरफ्तार किए गए एक आतंकी का परिजन था। एनआईए की टीम ने जिस डॉक्टर के घर पर दबिश दी है बताया जा रहा है कि उसने निलंबित डीएसपी और आतंकी नवीद बाबू को पनाह दी थी। छापेमारी के बाद एनआईए के आला अधिकारियों की एक टीम दिल्ली के लिए रवाना हो गई। जबकि पांच सदस्यीय टीम दूसरी टीम इस मामले में नए खुलासों के बाद जांच के लिए यहीं रुक गई है। बता दें कि डीएसपी की गिरफ्तारी के बाद जांच एजेसियों को उसके इंदिरा नगर स्थित घर से 10 लाख रुपये कैश, एक एके 47 राइफल और दो पिस्टल बरामद की गई थी।