1. हिन्दी समाचार
  2. भगोड़े कारोबारी नीरव मोदी की याचिका खारिज, 22 अगस्त तक जेल में रहना होगा

भगोड़े कारोबारी नीरव मोदी की याचिका खारिज, 22 अगस्त तक जेल में रहना होगा

Nirav Modi Remand Extended To 22nd August

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। भारत का भगोड़ा कारोबारी नीरव मोदी को लंदन की अदालत से फिर कोई राहत नहीं मिली। कोर्ट ने उसकी जनानत याचिका नामंजूर करते हुए उसकी कस्टडी 22 अगस्त तक के लिए बढ़ा दी है। 13,500 करोड़ रुपये के पीएनबी घोटाले और मनी लांड्रिंग के मामले में आरोपित मोदी की अदालत में अगली पेशी लंदन की जेल से ही वीडियो लिंक के जरिए होगी। हालांकि इस दौरान ब्रिटिश जज ने सभी पक्षों की सहमति से इस बात का भी संकेत दिया कि प्रत्यर्पण पर पांच दिवसीय अंतिम सुनवाई अब अगले साल मई के महीने में ही होगी।

पढ़ें :- महबूबा के बयान पर पार्टी में बगावत, तीन नेताओं ने दिया इस्तीफा, कहा-देशभक्ति की भावनाएं आहत हुईं

19 मार्च से जेल में है नीरव मोदी

नीरव लंदन की वंड्सवर्थ जेल में है इस साल 19 मार्च से बंद है। पीएनबी से कर्ज लेकर फरार होने के साथ ही नीरव पर मनी लॉन्ड्रिंग के भी आरोप हैं। भारत भगोड़े कारोबारी के प्रत्यर्पण के लिए लगातार कोशिश कर रहा है। इससे पहले 12 जुलाई को भी उसकी जमानत याचिका यूके की हाई कोर्ट ने खारिज कर दी थी।

हाई कोर्ट ने भी नीरव की याचिका कर दी थी खारिज

यूके हाई कोर्ट ने भी नीरव मोदी की जमानत याचिका खारिज कर दी था। याचिका पर सुनवाई के दौरान नीरव मोदी की वकील क्लेयर मोंटगोमेरी ने तर्क दिया था कि नीरव मोदी लंदन पूंजी इकट्ठा करने के लिए आए हैं। अगर उन्हें जमानत मिली तो उन्होंने खुद को एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण से टैग करने की इच्छा जताई है, जिसके जरिये उन्हें ट्रैक किया जा सकता है।

पढ़ें :- महिलाओं की ये 9 खूबियां जो पुरूषों को आती हैं बहुत ही पंसद, जानिए

उन्होंने कहा कि चूंकि उनके खिलाफ प्रत्यर्पण का मामला शुरू हो चुका है, इसलिए उनके भागने का सवाल पैदा नहीं होता। उनके बेटे और बेटी इंग्लैंड में यूनिवर्सिटी खोल रहे हैं और वे आते-जाते रहेंगे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...