निर्भया केस: दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा-दोषियों को अलग-अलग फांसी नहीं हो सकती

nirbhya
निर्भया केस: दोषियों की फांसी से पहले उनके परिजनो ने राष्ट्रपति से मांगी इच्छामृत्यु

नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट ने निर्भया केस में केंद्र सरकार की अर्जी पर फैसला सुनाते हुए कहा कि चारों दोषियों केा अलग—अलग फांसी नहीं दी जा सकती है। केंद्र सरकार ने दोषियों को जल्द फांसी देने के लिए अदालत में अर्जी दाखिल की थी, जिस पर सुनवाई करते हुए रविवार को कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था और आज का दिन मुकर्रर किया था।

Nirbhaya Case Delhi High Court Said Convicts Cannot Be Hanged Separately :

बता दें कि, केंद्र सरकार ने इस मामले में दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी, जिसमें कहा था कि निर्भया के चारों आरोपी जुडिशल सिस्टम का गलत फायदा उठाकर फांसी को टालने की कोशिश में जुटे हैं। ऐसे में निर्भया केस के जिन दोषियों की दया याचिका खारिज हो चुकी है या किसी भी फोरम में उनकी कोई याचिका लंबित नहीं है, उनको फांसी पर लटकाया जाए।

किसी एक दोषी की याचिका लंबित होने पर बाकी 3 दोषियों को फांसी से राहत नही दी जा सकती। दिल्ली हाईकोर्ट ने रविवार को विशेष सुनवाई करने के बाद अपना आदेश सुरक्षित रख लिया था।

नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट ने निर्भया केस में केंद्र सरकार की अर्जी पर फैसला सुनाते हुए कहा कि चारों दोषियों केा अलग—अलग फांसी नहीं दी जा सकती है। केंद्र सरकार ने दोषियों को जल्द फांसी देने के लिए अदालत में अर्जी दाखिल की थी, जिस पर सुनवाई करते हुए रविवार को कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था और आज का दिन मुकर्रर किया था। बता दें कि, केंद्र सरकार ने इस मामले में दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी, जिसमें कहा था कि निर्भया के चारों आरोपी जुडिशल सिस्टम का गलत फायदा उठाकर फांसी को टालने की कोशिश में जुटे हैं। ऐसे में निर्भया केस के जिन दोषियों की दया याचिका खारिज हो चुकी है या किसी भी फोरम में उनकी कोई याचिका लंबित नहीं है, उनको फांसी पर लटकाया जाए। किसी एक दोषी की याचिका लंबित होने पर बाकी 3 दोषियों को फांसी से राहत नही दी जा सकती। दिल्ली हाईकोर्ट ने रविवार को विशेष सुनवाई करने के बाद अपना आदेश सुरक्षित रख लिया था।