1. हिन्दी समाचार
  2. निर्भया केस: दोषियों को ‘कसूरी वार्ड’ में किया गया शिफ्ट, मां बोलीं-फांसी के फंदे से लटकता देखना चाहती हूं

निर्भया केस: दोषियों को ‘कसूरी वार्ड’ में किया गया शिफ्ट, मां बोलीं-फांसी के फंदे से लटकता देखना चाहती हूं

Nirbhaya Case Shifted In Kasuri Ward To The Culprits Mother Wants To See Hanging

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। निर्भया के दोषियों को फांसी का ​दिन मुकरर्र होने के बाद देशभर के लोग उन्हें फंदे से लटकता देखना चाहते हैं। इसका आखिरी समय भी करीब है। निर्भया की मां आशा देवी ने कहा कि वह अपने आंखों के सामने चारों दोषियों का दम निकलते हुए देखना चाहती हैं। इसके लिए वह जेल प्रशासन और कोर्ट से ​लिखित गुहार भी लगाएंगी।

पढ़ें :- आतंकियों को पनाह देने वाले पाकिस्तान को बड़ा झटका, FATF ने ग्रे लिस्ट में रखा बरकरार

उन्होंने बताया कि बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए वह बीते सात वर्षों से संघर्ष कर रहीं हैं। बेटी के साथ हुई हैवानियत और उसकी मौत के बाद उन्हें कोर्ट कचहरी सब दिखा दिया। इससे पहले वह एक गृहणी थीं। पिछले सात साल में ऐसा कोई भी दिन नहीं होगा जब वह चैन की नींद सोई होंगी। वहीं, निर्भया के दोषियों को फांसी कोठरी (डेथ सेल) में भेजने से पहले उन्हें गुरुवार को तिहाड़ जेल प्रशासन ने कसूरी वार्ड में भेज दिया।

जेल प्रशासन का कहना है कि दोषियों के पास अभी क्यूरेटिव पिटीशन और राष्ट्रपति के पास याचिका डालने का मौका है। ऐसे में कहीं इनकी फांसी की तारीख आगे न बढ़ जाए, इसको ध्यान में रखते हुए फिलहाल मुकेश, पवन गुप्ता और अक्षय कुमार सिंह को कसूरी वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। वहीं, अभी दोषी विनय को जेल नंबर 4 की हाई सिक्योरिटी सेल में रखा गया है।

जेल सूत्रों का कहना है कि फांसी कोठरी में फिलहाल कुछ काम भी चल रहा है। ऐसे में इनको एकांत कसूरी वार्ड में रखा गया है। यहां सभी दोषियों पर सीसीटीवी कैमरों से नजर रखी जा रही है। इसके अलावा हर सेल के बाहर 24 घंटे सुरक्षाकर्मी तैनात रहते हैं। किसी दूसरे कैदियों को कसूरी वार्ड जाने की अनुमति नहीं है।

पढ़ें :- महबूबा मुफ्ती ने आर्टिकल 370 वाले बयान को लेकर पीएम मोदी पर साधा निशाना, कहा-उनके पास कुछ बताने के लिए नहीं...

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...