Nirbhaya के दोषियों से पूछी गई उनकी ‘आखिरी इच्छा’

Nirbhaya Case
निर्भया केस: दोषी विनय की याचिका सुप्रीम कोर्ट ने की खारिज, फांसी का रास्ता साफ

नई दिल्ली। दिल दहला देने वाले दिल्ली (Delhi)के निर्भया केस (Nirbhaya Rape case) के चारों दोषियों को फांसी के फंदे पर लटकाने का दिन तय हो गया है। बताया जा रहा है कि इन चारों को फांसी देने के लिए जल्लाद को भी दिल्ली की तिहाड़ जेल बुलाया गया है। वहीं अब खबर यह आ रही है कि चारों दोषियों से तिहाड़ जेल प्रशासन ने नोटिस जारी कर अंतिम इच्छा पूछी है?

Nirbhayas Culprits Asked For Their Last Wish :

उनसे पूछा गया है कि 1 फरवरी को तय उनकी फांसी के दिन से पहले वह अपनी अंतिम मुलाकात किससे करना चाहते हैं? उनके नाम कोई प्रॉपर्टी है तो क्या वह उसे किसी के नाम ट्रांसफर करना चाहते हैं, कोई धार्मिक किताब पढ़ना चाहते हैं?

मिली जानकारी के मुताबिक निर्भया के चारों दोषियों को तिहाड़ की जेल नंबर-3 में अलग-अलग सेल में रखा गया है। हर दोषी की सेल के बाहर दो सिक्यॉरिटी गार्ड तैनात रहते हैं। हर दो घंटे में इन गार्डों को आराम दिया जाता है। शिफ्ट बदलने पर दूसरे गार्ड तैनात किए जाते हैं। हर एक कैदी के लिए 24 घंटे के लिए आठ-आठ सिक्यॉरिटी गार्ड लगाए गए हैं। यानी चार कैदियों के लिए कुल 32 सिक्यॉरिटी गार्ड तैनात किए गए हैं।

नई दिल्ली। दिल दहला देने वाले दिल्ली (Delhi)के निर्भया केस (Nirbhaya Rape case) के चारों दोषियों को फांसी के फंदे पर लटकाने का दिन तय हो गया है। बताया जा रहा है कि इन चारों को फांसी देने के लिए जल्लाद को भी दिल्ली की तिहाड़ जेल बुलाया गया है। वहीं अब खबर यह आ रही है कि चारों दोषियों से तिहाड़ जेल प्रशासन ने नोटिस जारी कर अंतिम इच्छा पूछी है? उनसे पूछा गया है कि 1 फरवरी को तय उनकी फांसी के दिन से पहले वह अपनी अंतिम मुलाकात किससे करना चाहते हैं? उनके नाम कोई प्रॉपर्टी है तो क्या वह उसे किसी के नाम ट्रांसफर करना चाहते हैं, कोई धार्मिक किताब पढ़ना चाहते हैं? मिली जानकारी के मुताबिक निर्भया के चारों दोषियों को तिहाड़ की जेल नंबर-3 में अलग-अलग सेल में रखा गया है। हर दोषी की सेल के बाहर दो सिक्यॉरिटी गार्ड तैनात रहते हैं। हर दो घंटे में इन गार्डों को आराम दिया जाता है। शिफ्ट बदलने पर दूसरे गार्ड तैनात किए जाते हैं। हर एक कैदी के लिए 24 घंटे के लिए आठ-आठ सिक्यॉरिटी गार्ड लगाए गए हैं। यानी चार कैदियों के लिए कुल 32 सिक्यॉरिटी गार्ड तैनात किए गए हैं।