निर्मला सीतारमण ने संभाली रक्षा मंत्री की कुर्सी

नई दिल्ली। देश की पहली पूर्णकालिक महिला रक्षा मंत्री का कार्यभार गुरुवार को निर्मला सीतारमण ने ग्रहण कर लिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का मुझ पर विश्वास दिखाने और यह पोर्टफोलियो देने के लिए शुक्रिया। सुरक्षाबलों के परिवार और उनका कल्याण मेरी पहली प्राथमिकता है। इस मौके पर वित्तमंत्री और पूर्व रक्षा मंत्री अरूण जेटली मौजूद रहें।

नरेंद्र मोदी कैबिनेट में रविवार को हुए फेरबदल में उन्हें प्रमोट कर रक्षा मंत्री बनाया गया था। हालांकि उसी दिन अरुण जेटली को जापान रवाना होना था, जिससे वह रक्षा मंत्री का कार्यभार नहीं संभाल पाईं थीं। गौरतलब है कि मनोहर पर्रीकर के रक्षा मंत्री के पद से इस्तीफा देने के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली को ही इस मंत्रालय की अतिरिक्त जिम्मेदारी दी गई थी।

{ यह भी पढ़ें:- मार्शल अर्जन सिंह का निधन, PM मोदी बोले- 'शानदार योगदान के लिये हमेशा याद आएंगे' }

जापान जाने से पहले जेटली ने कहा था, ‘मैं आज रात जापान यात्रा पर जा रहा हूं। सामान्यतया नए रक्षामंत्री को जाना चाहिए था, लेकिन रविवार होने की वजह से अंतिम क्षणों में ऐसा संभव नहीं हो सका। जापानी प्रधानमंत्री के भारत दौरे से पहले दोनों देशों के बीच यह काफी महत्वपूर्ण सुरक्षा वार्ता है, इसलिए बदलाव उपयुक्त नहीं है। मैं अगले दो दिनों तक वार्ता पूरी होने तक रक्षा मंत्री के तौर पर कार्य करूंगा। वार्ता समाप्त होते ही सीतारमण पदभार संभाल लेंगी।’

{ यह भी पढ़ें:- योगी के मंत्री PM मोदी से बोले- BJP जितना यूपी में खर्च करती है, उतने की शराब पीती है हमारी बिरादरी }