वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने की मंदी दूर करने के लिए किए बड़े ऐलान

sitaraman
वैश्विक मंदी से बचने को सरकार के कई बड़े ऐलान, सरचार्ज हटेगा, EMI घटेगी

नई दिल्ली। आर्थिक मामलों पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार द्वारा आर्थिक सुधारों के लिए उठाए गए कदमों और देश के साथ-साथ दुनिया की आर्थिक स्थिति का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि दुनिया के मुकाबले भारत की अर्थव्यवस्था बेहतर हालात में है। बाकी देश भी मंदी का सामना कर रहे हैं चीन-अमेरिका ट्रेड वॉर से मंदी का खतरा बढ़ गया है।

Nirmala Sitharaman Done Press Conference Economic Condition :

आर्थिक मामलों पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार द्वारा आर्थिक सुधारों के लिए उठाए गए कदमों और देश के साथ-साथ दुनिया की आर्थिक स्थिति का जिक्र किया। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर और वित्त सचिव राजीव कुमार भी मौजूद थे।

निर्मला सीतारमण ने कहा, ऐसा नहीं है कि मंदी की समस्या सिर्फ भारत के लिए है बल्कि दुनिया के बाकी देश भी इस समय मंदी का सामना कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सुधार एक निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है और देश में लगातार आर्थिक सुधार हुए हैं। भारत की अर्थव्यवस्था दूसरे देशों के मुकाबले काफी बेहतर हुई है।

वित्त मंत्री ने कहा कि 1 अक्टूबर से केंद्रीय सिस्टम से नोटिस भेजे जाएंगे। जिससे टैक्स उत्पीड़न की घटनाओं पर रोक लगेगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कैपिटल गेन्स पर सरचार्ज वापस लिया जाएगा। शेयर बाजार में कैपिटल गेन्स और फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टमेंट (FPI) पर सरचार्ज नहीं लिया जाएगा।

वित्त मंत्री ने किए ये बड़े ऐलान

-शेयर बाजार में कैपिटल गेन्स से सरचार्ज हटेगा।

– स्टार्ट अप टैक्स निपटारे के लिए अलग सेल बनेगा।

– लोन आवेदन की ऑनलाइन निगरानी की जाएगी।

– लोन क्लोज होने के बाद सिक्यॉरिटी रिलेटेड डॉक्यूमेंट बैंकों को 15 दिन के भीतर देना होगा।

– रेपो रेट कम होते की ब्याज दरें कम होंगी।

– ब्याजदर घटेगी तो EMI कम होगी।

– बैंकों को ब्याज दरों में कमी का फायदा लोगों को देना होगा।

नई दिल्ली। आर्थिक मामलों पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार द्वारा आर्थिक सुधारों के लिए उठाए गए कदमों और देश के साथ-साथ दुनिया की आर्थिक स्थिति का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि दुनिया के मुकाबले भारत की अर्थव्यवस्था बेहतर हालात में है। बाकी देश भी मंदी का सामना कर रहे हैं चीन-अमेरिका ट्रेड वॉर से मंदी का खतरा बढ़ गया है। आर्थिक मामलों पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार द्वारा आर्थिक सुधारों के लिए उठाए गए कदमों और देश के साथ-साथ दुनिया की आर्थिक स्थिति का जिक्र किया। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर और वित्त सचिव राजीव कुमार भी मौजूद थे। निर्मला सीतारमण ने कहा, ऐसा नहीं है कि मंदी की समस्या सिर्फ भारत के लिए है बल्कि दुनिया के बाकी देश भी इस समय मंदी का सामना कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सुधार एक निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है और देश में लगातार आर्थिक सुधार हुए हैं। भारत की अर्थव्यवस्था दूसरे देशों के मुकाबले काफी बेहतर हुई है। वित्त मंत्री ने कहा कि 1 अक्टूबर से केंद्रीय सिस्टम से नोटिस भेजे जाएंगे। जिससे टैक्स उत्पीड़न की घटनाओं पर रोक लगेगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कैपिटल गेन्स पर सरचार्ज वापस लिया जाएगा। शेयर बाजार में कैपिटल गेन्स और फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टमेंट (FPI) पर सरचार्ज नहीं लिया जाएगा। वित्त मंत्री ने किए ये बड़े ऐलान -शेयर बाजार में कैपिटल गेन्स से सरचार्ज हटेगा। - स्टार्ट अप टैक्स निपटारे के लिए अलग सेल बनेगा। - लोन आवेदन की ऑनलाइन निगरानी की जाएगी। - लोन क्लोज होने के बाद सिक्यॉरिटी रिलेटेड डॉक्यूमेंट बैंकों को 15 दिन के भीतर देना होगा। - रेपो रेट कम होते की ब्याज दरें कम होंगी। - ब्याजदर घटेगी तो EMI कम होगी। - बैंकों को ब्याज दरों में कमी का फायदा लोगों को देना होगा।