निर्मला सीतारमण: ओला, उबर और बीएस-6 को ठहराया ऑटो सेक्टर में मंदी का कारण, जाने क्यों

nirmala sitaraman
निर्मला सीतारमण ने ओला, उबर और बीएस-6 को ठहराया ऑटो सेक्टर में मंदी का कारण, जाने क्यों

नई दिल्ली। देश में ऑटोमोबाइल सेक्टर मंदी की मार झेल रहा है। जिससे कई कंपनियां ने कुछ दिनों के लिए प्रॉडक्शन पर रोक लगा चुकी हैं। मंदी के कारण इस क्षेत्र से जुड़े लोगों की नौकरियां भी खतरे में आ चुकी है। ऐसे में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऑटो सेक्टर की गिरावट के लिए ओला, उबर जैसी कैब सर्विस और बीएस-6 मॉडल को जिम्मेदार ठहराया है।

Nirmala Sitharaman Named Ola Uber And Bs 6 As The Reason For The Slowdown In The Auto Sector :

बता दें कि मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए निर्मला सीतारमण ने कहा कि ‘ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री पर बीएस6 और लोगों की सोच में आए बदलाव का असर पड़ रहा है, लोग अब गाड़ी खरीदने की बजाय ओला या उबर जैसी कैब सर्विस को तरजीह दे रहे हैं।’

उन्होंने कहा कि ‘कुछ अध्ययन बताते हैं कि गाड़ियों को लेकर युवाओं की सोच बदली है। वे स्वयं का वाहन खरीदकर मासिक किस्त देने के बजाए ओला, उबर या मेट्रो सेवाओं को पसंद कर रहे हैं। इसलिए कोई एक कारण नहीं है जो वाहन क्षेत्र को प्रभावित कर रहे हैं। हमारी उस पर नजर है। हम उसके समाधान का प्रयास करेंगे।’

नई दिल्ली। देश में ऑटोमोबाइल सेक्टर मंदी की मार झेल रहा है। जिससे कई कंपनियां ने कुछ दिनों के लिए प्रॉडक्शन पर रोक लगा चुकी हैं। मंदी के कारण इस क्षेत्र से जुड़े लोगों की नौकरियां भी खतरे में आ चुकी है। ऐसे में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऑटो सेक्टर की गिरावट के लिए ओला, उबर जैसी कैब सर्विस और बीएस-6 मॉडल को जिम्मेदार ठहराया है। बता दें कि मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए निर्मला सीतारमण ने कहा कि 'ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री पर बीएस6 और लोगों की सोच में आए बदलाव का असर पड़ रहा है, लोग अब गाड़ी खरीदने की बजाय ओला या उबर जैसी कैब सर्विस को तरजीह दे रहे हैं।' उन्होंने कहा कि 'कुछ अध्ययन बताते हैं कि गाड़ियों को लेकर युवाओं की सोच बदली है। वे स्वयं का वाहन खरीदकर मासिक किस्त देने के बजाए ओला, उबर या मेट्रो सेवाओं को पसंद कर रहे हैं। इसलिए कोई एक कारण नहीं है जो वाहन क्षेत्र को प्रभावित कर रहे हैं। हमारी उस पर नजर है। हम उसके समाधान का प्रयास करेंगे।'