दुनिया के सबसे बड़े आर्ट म्यूजियम की ट्रस्टी बनी नीता अंबानी

neeta ambani
दुनिया के सबसे बड़े आर्ट म्यूजियम की ट्रस्टी बनी नीता अंबानी

नई दिल्ली। रिलायंस फाउंडेशन (Reliance Foundation) की फाउंडर और चेयरपर्सन नीता अंबानी (Nita Ambani) को न्यूयॉर्क के मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम ऑफ आर्ट (Metropolitan Museum of Art) के बोर्ड में शामिल किया गया है। वह संग्रहालय के 150 साल के इतिहास में ट्रस्टी की भूमिका निभाने वाली पहली भारतीय होंगी। म्यूजियम के चेयरमैन डेनियल ब्रॉडस्की ने ये जानकारी दी।

Nita Ambani Became The Trustee Of The Worlds Largest Art Museum :

नीता भारतीय कला-संस्कृति का दुनियाभर में प्रचार कर रहीं

नीता अंबानी ने 2017 में कहा था कि मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम के जरिए भारतीय कला को एक प्रतिष्ठित संस्थान में प्रदर्शन का मौका मिला और हम कला के क्षेत्र में काम जारी रखने के लिए प्रोत्साहित हुए। नीता रिलायंस फाउंडेशन के जरिए भारतीय कला और संस्कृति का दुनियाभर में प्रचार कर रही हैं। वे देश में खेल और विकास की योजनाओं को भी बढ़ावा दे रही हैं।

मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम 149 साल पुराना है। यहां दुनियाभर की 5000 साल पुरानी कलाकृतियां भी मौजूद हैं। हर साल लाखों लोग म्यूजियम देखने पहुंचते हैं। इनमें कई अरबपति और सेलेब्रिटी भी होते हैं। म्यूजियम के चेयरमैन डेनियल ब्रॉडस्की ने मंगलवार को कहा कि नीता अंबानी की मदद से म्यूजियम की कला के अध्ययन और प्रदर्शन की क्षमताओं में काफी इजाफा हुआ।

2017 में मिला था खेल प्रोत्साहन पुरस्कार

श्रीमती अंबानी को 2017 में रिलायंस फाउंडेशन के काम के लिए भारत के राष्ट्रपति से प्रतिष्ठित राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार मिला था। वह अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति की सदस्य भी हैं और इस भूमिका को निभाने वाली वे पहली भारतीय महिला हैं।

नई दिल्ली। रिलायंस फाउंडेशन (Reliance Foundation) की फाउंडर और चेयरपर्सन नीता अंबानी (Nita Ambani) को न्यूयॉर्क के मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम ऑफ आर्ट (Metropolitan Museum of Art) के बोर्ड में शामिल किया गया है। वह संग्रहालय के 150 साल के इतिहास में ट्रस्टी की भूमिका निभाने वाली पहली भारतीय होंगी। म्यूजियम के चेयरमैन डेनियल ब्रॉडस्की ने ये जानकारी दी। नीता भारतीय कला-संस्कृति का दुनियाभर में प्रचार कर रहीं नीता अंबानी ने 2017 में कहा था कि मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम के जरिए भारतीय कला को एक प्रतिष्ठित संस्थान में प्रदर्शन का मौका मिला और हम कला के क्षेत्र में काम जारी रखने के लिए प्रोत्साहित हुए। नीता रिलायंस फाउंडेशन के जरिए भारतीय कला और संस्कृति का दुनियाभर में प्रचार कर रही हैं। वे देश में खेल और विकास की योजनाओं को भी बढ़ावा दे रही हैं। मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम 149 साल पुराना है। यहां दुनियाभर की 5000 साल पुरानी कलाकृतियां भी मौजूद हैं। हर साल लाखों लोग म्यूजियम देखने पहुंचते हैं। इनमें कई अरबपति और सेलेब्रिटी भी होते हैं। म्यूजियम के चेयरमैन डेनियल ब्रॉडस्की ने मंगलवार को कहा कि नीता अंबानी की मदद से म्यूजियम की कला के अध्ययन और प्रदर्शन की क्षमताओं में काफी इजाफा हुआ। 2017 में मिला था खेल प्रोत्साहन पुरस्कार श्रीमती अंबानी को 2017 में रिलायंस फाउंडेशन के काम के लिए भारत के राष्ट्रपति से प्रतिष्ठित राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार मिला था। वह अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति की सदस्य भी हैं और इस भूमिका को निभाने वाली वे पहली भारतीय महिला हैं।