नितिन गडकरी बोले – जो 3 बार फेल होता, वो बनता है मंत्री

nitin katgari ]
नितिन गडकरी- जो 3 बार फेल होता, वो बनता है मंत्री

नई दिल्ली। पिछले कुछ दिनों से बयान को लेकर सुर्खियों में रहे केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने रविवार को कहा- जो मेरिट में आता है, वह आईएएस और आईपीएस बनता है। जो सेकेंड क्लास पास होता है, वो चीफ इंजीनियर बनता है। लेकिन जो तीन बार फेल होता है, वो मिनिस्टर बनता है। राजनीति में आने के लिए कोई क्वालिटी की जरूरत नहीं होती है।’

Nitin Gadkari Says Whoever Fails Three Times Become Minister :

मैं जो बोलता हूं मुंह पर बोलता हूं

उन्होंने आगे कहा, ‘‘मुझे झूठ बोलना नहीं आता है। जो कहना है, वो मुंह पर कहता हूं। इससे कई बार मुझसे लोग नाराज भी हो जाते हैं। कुछ लोग झूठा रोते हैं और झूठा हंसते हैं। उनके मन में जिसके लिए प्यार नहीं होता है, उसके लिए अच्छा-अच्छा बोलते हैं, लेकिन मैं कभी झूठ नहीं बोलता हूं।” गडकरी ने कहा- “चतुर और चतरा इन दो शब्दों में अंतर है।’’

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘समाज में जितनी तरह के लोग हैं, उतने ही रंग के नेता भी हैं। मैं अपने पैशन के लिए जीना चाहता हूं। मैं मक्खन लगाने वालों में से नहीं हूं।’ इसके अलावा रविवार को गडकरी ने कहा, ‘प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनने की मेरी न तो कोई महत्वाकांक्षा है और न ही आरएसएस की मुझे उम्मीदवार के रूप में पेश करने की कोई मंशा है। हमारे लिए देश सर्वोपरि है।’

वहीं, रविवार को चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया। इसके साथ दी पूरे देश में आचार संहिता लागू हो गई। पहले चरण की वोटिंग 11 अप्रैल और आखिरी चरण की वोटिंग 19 मई को होगी। पहले चरण में 20 राज्यों की 91 सीटों, दूसरे चरण में 13 राज्यों की 97 सीटों, तीसरे चरण में 14 राज्यों की 115 सीटों, चौथे चरण में 9 राज्यों की 71 और पांचवें चरण में 7 राज्यों की 51 सीटों पर चुनाव होंगे।

नई दिल्ली। पिछले कुछ दिनों से बयान को लेकर सुर्खियों में रहे केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने रविवार को कहा- जो मेरिट में आता है, वह आईएएस और आईपीएस बनता है। जो सेकेंड क्लास पास होता है, वो चीफ इंजीनियर बनता है। लेकिन जो तीन बार फेल होता है, वो मिनिस्टर बनता है। राजनीति में आने के लिए कोई क्वालिटी की जरूरत नहीं होती है।'

मैं जो बोलता हूं मुंह पर बोलता हूं

उन्होंने आगे कहा, ‘‘मुझे झूठ बोलना नहीं आता है। जो कहना है, वो मुंह पर कहता हूं। इससे कई बार मुझसे लोग नाराज भी हो जाते हैं। कुछ लोग झूठा रोते हैं और झूठा हंसते हैं। उनके मन में जिसके लिए प्यार नहीं होता है, उसके लिए अच्छा-अच्छा बोलते हैं, लेकिन मैं कभी झूठ नहीं बोलता हूं।" गडकरी ने कहा- "चतुर और चतरा इन दो शब्दों में अंतर है।’’

केंद्रीय मंत्री ने कहा, 'समाज में जितनी तरह के लोग हैं, उतने ही रंग के नेता भी हैं। मैं अपने पैशन के लिए जीना चाहता हूं। मैं मक्खन लगाने वालों में से नहीं हूं।' इसके अलावा रविवार को गडकरी ने कहा, 'प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनने की मेरी न तो कोई महत्वाकांक्षा है और न ही आरएसएस की मुझे उम्मीदवार के रूप में पेश करने की कोई मंशा है। हमारे लिए देश सर्वोपरि है।'

वहीं, रविवार को चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया। इसके साथ दी पूरे देश में आचार संहिता लागू हो गई। पहले चरण की वोटिंग 11 अप्रैल और आखिरी चरण की वोटिंग 19 मई को होगी। पहले चरण में 20 राज्यों की 91 सीटों, दूसरे चरण में 13 राज्यों की 97 सीटों, तीसरे चरण में 14 राज्यों की 115 सीटों, चौथे चरण में 9 राज्यों की 71 और पांचवें चरण में 7 राज्यों की 51 सीटों पर चुनाव होंगे।