1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Nitin Patel, बोले- अगर हिन्दुओं की संख्या हुई कम तो उसी दिन कोर्ट, कचहरी व संविधान हवा में हो जाएगा दफन

Nitin Patel, बोले- अगर हिन्दुओं की संख्या हुई कम तो उसी दिन कोर्ट, कचहरी व संविधान हवा में हो जाएगा दफन

गुजरात के डिप्टी सीएम नितिन पटेल (Gujarat Deputy CM Nitin Patel) ने शनिवार को कहा है कि संविधान (Constitution), धर्मनिरपेक्षता (Secularism) और कानून की बात तब तक चलेगी जब तक हिंदू बहुसंख्यक (Hindu majority) हैं। उन्होंने कहा कि मेरे शब्द लिख लीजिए, अगर हिन्दुओं की संख्या कम हुई तो उस दिन न कोई कोर्ट कचहरी होगी, न कोई कानून होगा, कोई लोकशाही नहीं, कोई संविधान (Constitution) नहीं रहेगा। सब हवा में दफना दिया जाएगा।

By संतोष सिंह 
Updated Date

गुजरात। गुजरात के डिप्टी सीएम नितिन पटेल (Gujarat Deputy CM Nitin Patel) ने शनिवार को कहा है कि संविधान (Constitution), धर्मनिरपेक्षता (Secularism) और कानून की बात तब तक चलेगी जब तक हिंदू बहुसंख्यक (Hindu majority) हैं। उन्होंने कहा कि मेरे शब्द लिख लीजिए, अगर हिन्दुओं की संख्या कम हुई तो उस दिन न कोई कोर्ट कचहरी होगी, न कोई कानून होगा, कोई लोकशाही नहीं, कोई संविधान (Constitution) नहीं रहेगा। सब हवा में दफना दिया जाएगा।

पढ़ें :- UP: कैबिनेट मंत्री संजय निषाद को कोर्ट ने गिरफ्तार करने का दिया आदेश

नितिन पटेल (Nitin Patel) ने यह बयान गांधीनगर (Gandhinagar ) के भारत माता मंदिर (Bharat Mata Mandir)  में दिया है। इस मंदिर को राज्य का पहला भारत माता मंदिर (Bharat Mata Mandir) माना जाता है। वक्त पटेल ने जिस यह बयान दिया उस समय राज्य के गृह मंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा (Home Minister Pradeep Singh Jadeja) और वीएचपी (VHP)व आरएसएस (RSS) के शीर्ष नेता मौजूद थे।

पटेल ने कहा कि हमारे देश में कुछ लोग संविधान (Constitution) और धर्मनिरपेक्षता (Secularism)  की बात करते हैं,लेकिन मैं आपको बताता हूं और अगर आप इसे वीडियो रिकॉर्ड (Video Record) करना चाहते हैं, तो इसे करें…मेरे शब्दों को लिखकर रख लें। संविधान, धर्मनिरपेक्षता (Secularism)  और कानून आदि की बात करने वाले ऐसा तब तक करेंगे जब तक कि इस देश में हिंदू बहुसंख्यक हैं। जिस दिन हिंदुओं की संख्या घटती है, दूसरों की वृद्धि होती है, तब न धर्मनिरपेक्षता, न लोकसभा और न संविधान, सब कुछ हवा में उड़ा दिया जाएगा। कुछ नहीं रहेगा।

उन्होंने आगे कहा कि  मैं सभी के बारे में बात नहीं कर रहा. मुझे यह भी साफ कर देना चाहिए कि लाखों मुसलमान देशभक्त हैं। लाखों ईसाई देशभक्त हैं। गुजरात पुलिस में हजारों मुसलमान हैं, वे सभी देशभक्त हैं।

पढ़ें :- राज्यपाल एक संवैधानिक पद है, उन्हें संविधान के दायरे में रहकर बोलना चाहिए : Eknath Shinde
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...