बिहार में बिखरा महागठबंधन, सीएम नीतीश कुमार ने दिया इस्तीफा

पटना। भ्रष्टाचार के आरोपों में फंसे डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव द्वारा इस्तीफा न दिए जाने के बाद सीएम नीतीश कुमार ने आखिरकार अपना इस्तीफा दे दिया है। नीतीश कुमार के इस्तीफे के साथ बिहार की महागठबंधन सरकार बिखर चुकी है।

मिली जानकारी के मुताबिक बुधवार को राजद के विधायक दल की बैठक के बाद तेजस्वी यादव के इस्तीफे की स्थिति स्पष्ट होने के बाद नीतीश कुमार ने जदयू विधायकों की बैठक कर अपने इस्तीफे का फैसला लिया। उन्होंने आनन फानन में राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी से मुलाकात के लिए समय लेकर अपना इस्तीफा उन्हें सौंप दिया।

{ यह भी पढ़ें:- लालू प्रसाद के बेटे की दिवाली पर सलाह, 'पटाखा से अच्छा बैलून फुलाइए और फोड़िए' }

इस्तीफा देने के बाद राजभवन से बाहर निकले नीतीश कुमार ने कहा कि उन्होंने राज्यपाल से मिलकर अपना त्यागपत्र सौंपा दिया। जितना संभव हो सका उतना गठबंधन धर्म का पालन किया। जितना संभव है उतना काम करने की कोशिश की। लेकिन बीते एक माह के भीतर जो स्थिति उभर कर आई उनमें काम करना संभव नहीं था। उन्होंने किसी से इस्तीफा नहीं मांगा। लालू और तेजस्वी से बात की और उनसे कहा कि जो भी आरोप लगे हैं उन पर आम जन के बीच सफाई दें। ताकि आम जन के बीच बन रही अवधारणा स्पष्ट हो सकें।

उन्होंने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों में काम करना संभव नहीं था। क्योंकि उनके किए कामों से ज्यादा चर्चा तेजस्वी यादव के कारनामों की हो रही थी। महागठबंधन सरकार को बचाए रखने के लिए अंत समय तक प्रयास किया। राहुल गांधी से भी इस विषय पर बात की लेकिन कोई हल नहीं निकला।

{ यह भी पढ़ें:- नाबालिग के साथ पांच लड़कों ने किया गैंगरेप, वारदात का बना लिया वीडियो }