मोदी कैबिनेट में नहीं शामिल होने पर नीतीश कुमार की नाराजगी आई सामने, बीजेपी पर किया कटाक्ष

nitish kumar
मोदी कैबिनेट में नहीं शामिल होने पर नीतीश कुमार की नाराजगी आई सामने, बीजेपी पर किया कटाक्ष

पटना। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह से लौटे बिहार के सीएम नीतीश कुमार पत्रकारों से बातचीत की। इस दौरान जेडीयू के मोदी कैबिनेट में शामिल नहीं होने पर उन्होंने इशारों ही इशारों में नाराजगी जाहिर की है। नीतीश ने कहा कि मुझे बताया गया कि एक सीट जेडीयू को दी जाएगी, मैने कहा था कि हमें इसकी आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि वह मोदी कैबिनेट में नहीं शामिल हुए हैं लेकिन एनडीए के साथ रहेंगे।

Nitish Kumar Said He Would Remain With Nda But Not Included In The Ministry :

अटल बिहारी वाजपेयी सरकार की चर्चा करते हुए नीतीश ने कहा कि सीट के हिसाब से उस समय सहयोगी दलों के बीच मंत्री पद मिला था। गठबंधन सरकार में ऐसा ही होता है। नीतीश ने कहा कि उनके समय तो मंत्रिमंडल में शामिल होने से पहले ही मंत्रालय पर चर्चा कर ली जाती थी। उचित अनुपात में सभी पार्टियों को प्रतिनिधत्व मिलना चाहिए।

इसके साथ ही उन्होंने जेडीयू के द्वारा तीन मंत्रालय की मांग को गलत बताया। उनका कहना है कि वह इस तरह की कभी मांग नहीं किये और न ही कोई मंत्रालय की मांग की है। कटाक्ष के साथ नीतीश ने कहा कि हम ऐसे ही सरकार के साथ हैं। आगे कहा कि यह कोई बड़ा मुद्दा नहीं है, हम पूरी तरह से एनडीए में हैं और परेशान नहीं हैं। हम एक साथ काम कर रहे हैं, कोई भ्रम नहीं है।

पटना। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह से लौटे बिहार के सीएम नीतीश कुमार पत्रकारों से बातचीत की। इस दौरान जेडीयू के मोदी कैबिनेट में शामिल नहीं होने पर उन्होंने इशारों ही इशारों में नाराजगी जाहिर की है। नीतीश ने कहा कि मुझे बताया गया कि एक सीट जेडीयू को दी जाएगी, मैने कहा था कि हमें इसकी आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि वह मोदी कैबिनेट में नहीं शामिल हुए हैं लेकिन एनडीए के साथ रहेंगे। अटल बिहारी वाजपेयी सरकार की चर्चा करते हुए नीतीश ने कहा कि सीट के हिसाब से उस समय सहयोगी दलों के बीच मंत्री पद मिला था। गठबंधन सरकार में ऐसा ही होता है। नीतीश ने कहा कि उनके समय तो मंत्रिमंडल में शामिल होने से पहले ही मंत्रालय पर चर्चा कर ली जाती थी। उचित अनुपात में सभी पार्टियों को प्रतिनिधत्व मिलना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने जेडीयू के द्वारा तीन मंत्रालय की मांग को गलत बताया। उनका कहना है कि वह इस तरह की कभी मांग नहीं किये और न ही कोई मंत्रालय की मांग की है। कटाक्ष के साथ नीतीश ने कहा कि हम ऐसे ही सरकार के साथ हैं। आगे कहा कि यह कोई बड़ा मुद्दा नहीं है, हम पूरी तरह से एनडीए में हैं और परेशान नहीं हैं। हम एक साथ काम कर रहे हैं, कोई भ्रम नहीं है।