नीतीश कुमार के नेता पर दहेज के लिए बहू की हत्या करने का आरोप, एफआईआर दर्ज

पटना। बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में जनता दल-युनाइटेड (जदयू) के एक नेता पर दहेज के लिए अपनी बहू की हत्या करने का आरोप लगा है और उनके खिलाफ मामला भी दर्ज कर लिया गया है।

अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि जदयू नेता अरुण कुशवाहा पर उनकी पत्नी और बेटे के साथ मिलकर अपनी बहू रीना देवी की दहेज के लिए हत्या करने का आरोप है।

{ यह भी पढ़ें:- पटना यूनिवर्सिटी में पीएम मोदी ने दिया दिवाली का तोहफा, 20 यूनिवर्सिटी को दिया 10 हजार करोड़ का फंड }

पुलिस अधिकारी रामबालक यादव ने बुधवार को बताया, “रीना देवी की दहेज के लिए हत्या के आरोप में अरुण कुशवाहा, उनकी पत्नी और बेटे के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है और पुलिस ने इसकी जांच शुरू कर दी है।”

राज्य के सत्तारूढ़ दल के नेता के खिलाफ यह आरोप लगने के दो दिन पहले ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दहेज व बाल विवाह के खिलाफ एक व्यापक अभियान शुरू किया था।

{ यह भी पढ़ें:- पेट्रोल-डीजल पर वैट कम करेगी नीतीश सरकार }

रीना देवी की शादी 2015 में दीपक कुमार से हुई थी और उनका एक 11 माह का बेटा है।

पुलिस के अनुसार, वैशाली जिले में रहने वाले रीना के पिता महेश भगत ने अपनी शिकायत में कहा है कि अरुण कुशवाहा ने अपने परिवार के सदस्यों के साथ मिलकर दहेज के लिए उनकी बेटी की हत्या की है।

भगत ने लिखित शिकायत में कहा, “हमने शादी के समय अपनी बेटी के सुसराल वालों को नगद, जेवर और अन्य उपहार दिए थे, लेकिन वे गाड़ी की मांग कर रहे थे। जब मैंने इसे देने में अपनी असमर्थता व्यक्त की तो उन्होंने मुझ पर दबाव बनाने के लिए मेरी बेटी को परेशान करना शुरू कर दिया।”

{ यह भी पढ़ें:- क्या बिहार में बिखरती कांग्रेस को साध पाएंगे राहुल गांधी }

जदयू नेता ने हालांकि इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि उनके ऊपर लगाए गए आरोप निराधार हैं। उन्होंने कहा, “रीना का स्वास्थ्य पिछले छह महीनों से ठीक नहीं था और दुर्गा पूजा पर व्रत करने के बाद उसकी मौत हो गई।”

वहीं, खुद नीतीश कुमार ने यह कह चुके हैं कि उत्तर प्रदेश के बाद बिहार, भारत का दूसरा राज्य हैं, जहां दहेज प्रताड़ना के मामले सबसे अधिक देखे जाते हैं।