1. हिन्दी समाचार
  2. निजामुद्दीन मरकज: केजरीवाल बोले-जब मंदिर-मस्जिद बंद हैं तो ऐसी हरकत क्यों, 441 मेें कोरोना के लक्षण

निजामुद्दीन मरकज: केजरीवाल बोले-जब मंदिर-मस्जिद बंद हैं तो ऐसी हरकत क्यों, 441 मेें कोरोना के लक्षण

Nizamuddin Markaz Kejriwal Said When The Temple Mosque Is Closed Why Such An Act The Symptoms Of Corona In 441

नई दिल्ली। दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में आयोजित हुई तबलीगी जमात में आये विदेशियों के छिपे होने का मामला उजागर होते ही पूरे देश में दहशतगर्दी का माहौल है। जहां सरकार कोरोना जैसी महामारी के चलते देश को लॉक डाउन करके वायरस से निपटने की योजनाएं बना रही थी वहीं इस जमात के लोगों की वजह से सभी राज्यों में अलर्ट जारी हो गया है। जमात से तेलंगाना गये 6 लोगों की मौत् हुई तो मामले का खुलासा हुआ। आज अरविंद केजरीवाल ने प्रेस वार्ता कर बताया है कि यहां पर 1548 लोग मिले हैं, 24 के अन्दर पॉजिटिव आया है जबकि 441 में लक्षण दिखे हैं।

पढ़ें :- महराजगंज:जनता ने मौका दिया तो क्षेत्र का होगा समग्र विकास: रवींद्र जैन

बता दें कि जमात से देश भर में गये 10 लोगो की मौत हो गयी है और जहां जहां तबलीगी जमात वाले ठिकानो पर छापेमारी हो रही है वहां पर ​मस्जिदों से लगातार विदेशी बरामद हो रहे हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नाराजगी जाहिर करते हुए घटना की कड़ी निंदा की है और कहा कि जब सारे मंदिर और मस्जिद बंद हैं तो फिर ऐसे हरकत क्यों हुई। उन्होने बताया कि 12 मार्च को मरकज में देश-विदेश से लोग आए थे।

केजरीवाल ने बताया कि इनमें काफी लोग चले गए और कुछ रुक गए। 1107 को क्वारनटीन किया गया है। 441 में लक्षण दिखे हैं जिनके टेस्टे किये जा रहे हैं। टेस्ट में 24 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। उन्हें भर्ती कराया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो लोग भी इसके लिए जिम्मेदार हैं, उन पर कार्रवाई होगी। दिल्ली सरकार ने इस केस में जिम्मेदारी लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के लिए उपराज्यपाल को पत्र लिखा है। जो भी जिम्मेदार होगा उन पर सख्त कार्रवाई होगी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...